क्षमाा करें, यह लेख आपके द्वारा चुनी हुई भाषा में नहीं है।
Agri Shop will be soon available in your state.
कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
जलाशयों में पानी की कमी चिंताजनक
देश के कई राज्यों के जलाशयों में पानी का स्तर पिछले दस साल के औसत स्तर से भी नीचे चला गया है जो चिंताजनक है। केंद्रीय जल संसाधन मंत्रालय के अनुसार 17 जनवरी 2019 को पश्चिमी क्षेत्र के गुजरात तथा महाराष्ट्र के 27 जलाशयों में पानी का स्तर घटकर कुल भंडारण क्षमता का 37 फीसदी ही रह गया है जोकि पिछले दस साल का औसत अनुमान 52 फीसदी से भी काफी कम है। यही हाल पूर्वी क्षेत्र के झारखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल एवं त्रिपुरा के 15 जलाशयों का भी है। इन जलाशयों में पानी का स्तर घटकर इनकी कुल भंडारण क्षमता के 61 फीसदी पर आ गया जबकि पिछले वर्ष की समान अवधि में इन जलाशयों में पानी का स्तर 69 फीसदी था। इसी तरह दक्षिण भारत के जिलों आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु के 31 जलाशयों में पानी का स्तर दस साल के औसत स्तर से नीचे आ गया है।
मध्य क्षेत्र में पानी पिछले साल के बराबर - मध्य क्षेत्र के उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश तथा छत्तीसगढ़ के 12 जलाशयों में पानी का स्तर उनकी कुल भंडारण क्षमता के 52 फीसदी पर है जो पिछले दस साल के औसतन 52 फीसदी के लगभग बराबर ही है। उत्तर क्षेत्र में पानी का स्तर बढ़ा - देश के उत्तरी क्षेत्र के जलाशयों में भी पानी की स्थिति ठीक है। हिमाचल, पंजाब तथा राजस्थान के 6 जलाशयों में पानी का स्तर 62 फीसदी है जोकि पिछले दस साल के औसत 48 फीसदी से ज्यादा है। स्रोत- आउटलुक एग्रीकल्चर, 19 जनवरी 2019
5
0
संबंधित लेख