योजना और सब्सिडीTV9
Kisan Rail: देश की बड़ी मंडियों तक फल-सब्जियां भेज रहे गांवों के किसान, इन उत्पादों पर मिल रही 50 फीसदी सब्सिडी!
🚆किसानों की आय बढ़े इसके लिए यह जरूरी है कि किसानों के उत्पाद को सही बाजार मिले. सही समय पर उनके उत्पाद बाजार तक पहुंच सके. इसे देखते हुए सरकार ने किसान रेल सेवा की शुरुआत की थी. यह सेवा अब देश के 60 रेलमार्गों पर संचालित हो रही है. कृषि मंत्रालय के मुताबिक 60 रेलमार्गों पर संचालित किसान रेल सेवा के जरिये राष्ट्रव्यापी बाजार तक किसानों की पहुंच बढ़ी है. किसानों को अपने उत्पाद के बेहतर दाम मिल रहा है. किसान रेल सेवा के जरिये 18 जून तक 2.7 लाख टन माल की डिलीवरी हो चुकी है. इस दौरान किसान रेल ने 850 यात्राएं पूरी की हैं. फलों और सब्जियों की ढुलाई में 50 फीसदी की सब्सिडी- किसान रेलयात्रा में सरकार द्वारा फलों और सब्जियों की ढुलाई में 50 फीसदी की सब्सिडी दी जाती है. किसान रेल सेवा के माध्यम से 4 अक्टूबर से 15 जून के बीच सब्सिडी के रुप में 52.38 करोड़ रुपये की राशि का वितरण किया गया है. किसान रेल सेवा की शुरुआत सात अगस्त 2020 को हुई थी. इससे किसानों को यह फायदा मिला की कई बार किसानों के फल और सब्जियां समय से बाजार तक नहीं पहुंच पाती है, ढुलाई के दौरान की खराब हो जाती है. वह समय से बाजार में पहुंचने लगी. इन उत्पादों पर मिलेगी सब्सिडी- फल:- आम, केला, अमरुद, कीवी, लीची, पपीता, मौसमी, संतरा, कीनू, नींबू, अनानास, अनार, कटहल, आंवला और नाशपाती समय अन्य फलों की ढुलाई के दाम में छूट मिलती है. सब्जियां:- करेला, बैंगन, शिमला मिर्च, गाजर, फूलगोभी, फ्रेंच बीन्स, हरी मिर्च,भिंडी, ककड़ी, मटर, लहसुन, प्याज, आलू और टमाटर समेत अन्य सब्जियों की ढुलाई के किराये में छूट मिलती है. बता दें कि इस योजना के तहत लाभ लेने के लिए किसानों को रजिस्ट्रेशन कराना पड़ता है. स्त्रोत- TV9 👉🏻प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक👍करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
15
3
अन्य लेख