कृषि वार्ताZee News
IIT कानपुर ने तैयार किया अनोखा रोबोट, फसलों का कीट-वायरस से करेगा बचाव!
👉देश दुनिया में अपने बेहतरीन रिसर्च वर्क के लिए पहचाने जाने वाले आईआईटी कानपुर ने अब किसानों की मदद के लिए एक रोबोट बनाया है. यह रोबोट किसान की खेतों की फसल में होने वाली बीमारी की पहचान करेगा. इसके साथ ही रोबोट फसल की जरूरत के मुताबिक कीटनाशक का छिड़काव करेगा. रोबोट किसान को खेतों में होने वाले हर तरह के बदलाव हलचल को लेकर अलर्ट भी करेगा। रोबोट बनेगा किसानों का साथी:- 👉गौरतलब है कि कीटों से फसल बचाने के लिए किसान भारी मात्रा में पेस्टीसाइट का छिड़काव करते हैं. नतीजा, फल व सब्जी के साथ मिट्टी व जल दोनों ही प्रदूषित होते हैं. इससे अनेक बीमारियों का खतरा बढ़ रहा है. इन समस्याओं को दूर करने के लिए आईआईटी के वरिष्ठ वैज्ञानिक प्रो. बिशाख भट्टाचार्य ने किसानों का साथी रोबोट तैयार किया है। रोबोट की होंगी ये खूबियां:- 👉यह रोबोट खेतों की मेड़ों पर आसानी से चलकर फसल तक जाएगा और कीटों पर जरूरत के मुताबिक पेस्टीसाइट का छिड़काव करेगा. रोबोट में कई तरह के सेंसर, एलईडी, एलडीआर, मशीन लर्निंग आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के साथ अत्याधुनिक कैमरे लगे हैं. जिसकी मदद से रोबोट फसलों की एक-एक पत्ती, फल व फूल को स्कैन कर लेगा. जितनी दूर कीटों का संक्रमण होगा, उतनी ही दूर पेस्टीसाइट या अन्य कीटरोधक दवा का छिड़काव करेगा. यह खुद मिट्टी की जांच कर देगा। फसलों की ग्रोथ के साथ देगा उत्पादन की जानकारी:- 👉प्रो. बिशाख ने बताया कि यह रोबोट फसलों की ग्रोथ के साथ ही उत्पादन की जानकारी भी देगा. फसलों में हो रहे हर तरह के बदलाव का डाटा तैयार करेगा और उसकी एनालिसिस रिपोर्ट भी तैयार करेगा. रोबोट को करीब ढाई साल की रिसर्च के बाद तैयार किया गया है. रोबोट के ब्रेन की ट्रेनिंग पिछले एक वर्ष से चल रही है. अब रोबोट बनकर तैयार हो गया है. पायलट प्रोजेक्ट के तहत इस रोबोट का उपयोग चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के आलू व टमाटर खेतों में अक्तूबर माह से शुरू कर दिया जाएगा। स्रोत:- Zee News, 👉 प्रिय किसान भाइयों दी गई उपयोगी जानकारी को लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
13
2
अन्य लेख