क्षमाा करें, यह लेख आपके द्वारा चुनी हुई भाषा में नहीं है।
Agri Shop will be soon available in your state.
कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
गेहूं और तिलहन किसानों को हो सकता है फायदा
चालू सीजन में सर्दी का मौसम लंबा होने से रबी की प्रमुख फसल गेहूं के साथ ही तिलहन की पैदावार ज्यादा होने का अनुमान है। कृषि आयुक्त एस के मल्होत्रा ने कहा कि चालू रबी में गेहूं का उत्पादन बढ़कर 10 करोड़ टन से ज्यादा होने का अनुमान है। भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (फिक्की) में आयोजित मिंट फार्मिंग सम्मेलन के दौरान मल्होत्रा ने संवाददाताओं से कहा कि चालू महीने में हुई उत्पादक राज्यों में बारिश से गेहूं की फसल को फायदा हुआ है इससे गेंहू की प्रति हेक्टेयर उत्पादकता में बढ़ोतरी होगी। उन्होंने कहा कि रबी फसल सीजन 2018-19 में गेहूं का उत्पादन बढ़कर 10 करोड़ टन से ज्यादा होने का अनुमान है जबकि पिछले रबी सीजन में 9.97 करोड़ टन का उत्पादन हुआ था।
चालू रबी में दालों का उत्पादन पिछले साल के लगभग बराबर 250 लाख टन के करीब ही होने का अनुमान है। हालांकि तिलहन का उत्पादन चालू रबी सीजन में बढ़कर 320 से 330 लाख टन होने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि दालों में देश लगभग आत्मनिर्भर हो गया है और अब सरकार का ध्यान खाद्य तेलों के आयात में बिल में कटौती करने के लिए तिलहन उत्पादन बढ़ाने पर जोर है। देश में खाद्य तेलों का सालाना आयात करीब 70,000 करोड़ रुपये का होता है। स्रोत – आउटलुक एग्रीकल्चर, 21 फरवरी 2019
79
0
संबंधित लेख