कृषी वार्ताकृषि जागरण
बिना दस्तावेजों के खुलवाएं जन धन योजना में खाता, जानें इसके नियम और फायदे!
जन धन योजना के तहत छोटे खाते की अवधि 12 महीने की होती है। इस दौरान आपको दस्तावेज जमा करने होते हैं। जैसे ही आप दस्तावेज जमा करते हैं, वैसे ही आपका छोटा खाता जीरो बैलेंस अकाउंट में तब्दील हो जाएगा। आइए आपको बताते हैं कि जन धन योजना के तहत छोटा खाता खुलवाने के नियम और फायदे क्या हैं? क्या है छोटा खाता जन धन योजना के तहत छोटा खाता खुलवाया जाता है। इस खाते में आप सालभर में अधिकतम 1 लाख रुपए ही जमा कर सकते हैं। यह लिमिट वन टाइम के लिए नहीं है, बल्कि सालभर में ही इतनी राशि जमा करने की सीमा है। बता दें कि किसी भी समय इस बैंक खाते में 50 हजार रुपए से अधिक की राशि जमा नहीं कर सकते हैं। 10 हजार रुपए से ज्यादा की निकासी नहीं इस बैंक खाते में जमा राशि से महीने में 10 हजार रुपए से ज्यादा की निकासी नहीं की जा सकती है। हालांकि, अगर सरकार द्वारा किसी तरह की सब्सिडी या पीएम किसान स्कीम जैसी योजनाओं की राशि भेजी जाती है, तो आप उस राशि को अधिकतम सीमा के तहत नहीं जोड़ा जाता है। छोटा खाता खुलवाने की प्रक्रिया इस खाते को खुलवाने के लिए आपको सिर्फ अपने दो सेल्फ अटेस्टेड फोटो देने की जरूरत होती है। यह खाता आप किसी भी नजदीकी बैंक में जाकर खुलवा सकते हैं। खास बात यह है कि इस खाते में किसी भी सरकारी योजना की सब्सिडी भेजी जा सकती है। छोटे खाते को जीरो बैलेंस अकाउंट में बदलना अगर आप छोटे खाते को जन धन योजना के जीरो बैलेंस अकाउंट में बदलना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको Know Your Customer यानी केवाईसी के तहत कुछ जरूरी दस्तावेज जमा करने होंगे। इसके बाद आपका खाता जीरो बैलेंस अकाउंट में बदल जाएगा। गौरतलब है कि देशभर में लगभग 40 करोड़ से अधिक लोगों ने जन धन योजना के खाता खुलवा रखा है। इन खातों में लगभग 1,29,929 करोड़ रुपए से अधिक की राशि भेजी जाती है। इस योजना का उद्देश्य देश के हर परिवार को बैंकिंग सिस्टम से जोड़ने का है। इससे सरकारी योजनाओं का लाभ सीधे लाभार्थियों तक पहुंचता है। इसके अलावा गरीब लोग भी बैंकिंग सिस्टम का हिस्सा बन पाते हैं। लॉकडाउन के दैरान अप्रैल से जून तक जन धन खाता धारक महिलाओं के खाते में प्रति माह 500 रुपए की राशि जमा कराई गई थी। स्रोत:- कृषि जागरण, 14 सितंबर, 2020, प्रिय किसान भाइयों यदि आपको दी गयी जानकारी उपयोगी लगी तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ जरूर शेयर करें धन्यवाद।
29
1
संबंधित लेख