क्षमाा करें, यह लेख आपके द्वारा चुनी हुई भाषा में नहीं है।
Agri Shop will be soon available in your state.
सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
सोयाबीन में डेम्पिंग ऑफ रोग का नियंत्रण!
सोयाबीन की खेती खरीफ के मौसम में की जाती है। सोयाबीन एक ऐसी फसल है जिसको तिलहन और दलहन दोनों रूप में उगाया जाता है। सोयाबीन का इस्तेमाल कई तरह से किया जाता है। सोयाबीन के अंदर सबसे ज्यादा प्रोटीन की मात्रा पाई जाती है। इसकी खेती उचित देखभाल और उन्नत तरीके से की जाए तो इसकी फसल काफी अच्छी पैदावार देती है। लेकिन कई बार रोग के लग जाने की वजह से फसल को काफी नुक्सान पहुँचता है। जिससे इसका उत्पादन काफी कम प्राप्त होता है। इसमें डेम्पिंग ऑफ एक प्रमुख रोग है:- सोयाबीन की फसल में पौध या तो जमीन के नीचे ही सड़ जाती है या फिर भूमि से ऊपर आने के पश्चात भूमि के पास से गलने लगती है। इसमें पौधे जमीन की सतह से गलकर जमीन पर गिरने लगते हैं और सूख जाते हैं। इस रोग की रोकथाम:- इस रोग की रोकथाम के लिए शुरुआत में खेत की गहरी जुताई कर उसे कुछ समय के लिए तेज़ धूप लगने के लिए खूला छोड़ दें। और फसल चक्र अपना कर खेती करें। प्रमाणित और रोग रहित बीजों को खेतो में उगाना चाहिए। बीजों को खेत में लगाने से पहले उन्हें कार्बोक्सिन 37.5% + थिरम 37.5% डब्ल्यू.एस. @ 3 ग्राम प्रति किलोग्राम बीज की दर से बीजोपचार कर वुबाई करें।
स्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
18
0
संबंधित लेख