कृषि वार्ताजागरण
7200 महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराएगा ये विभाग!
👉गन्ना परिक्षेत्र में 7200 महिलाओं को 240 स्वयं सहायता समूहों से जोड़ा जाएगा। इन महिलाओं को एक आंख के गन्ने के टुकड़े से गन्ने का नया पौधा तैयार करने का प्रशिक्षण दिया जाएगा, ताकि यह महिलाएं गन्ने की उन्नतिशील प्रजातियों की नर्सरी तैयार कर सकें। इससे गन्ने का क्षेत्रफल बढ़ेगा। महिलाओं को रोजगार भी मिलेगा। महिला स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से गन्ने की नर्सरियां तैयार करवाता है गन्ना विभाग:- 👉गन्ना विभाग प्रति वर्ष ग्रामीण क्षेत्र में महिला स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से गन्ने की नर्सरियां तैयार करवाता है। उसके बाद गन्ने के पौधों को गन्ना किसानों को बेचा जाता है। गत वर्ष गोरखपुर परिक्षेत्र में महिला स्वयं सहायता समूहों की ओर से 20 लाख गन्ने के पौधे तैयार किए गए थे। इसकी बिक्री करके महिलाओं ने 60 लाख रुपये की आय की थी। इस वर्ष ग्रामीण क्षेत्रों में 240 स्वयं सहायता समूह गठित करके 7200 महिलाओं को रोजगार देने का लक्ष्य रखा गया है। कई स्वयं सहायता समूहों का किया गया गठन:- 👉उपायुक्त गन्ना उषा पाल ने बताया कि गोरखपुर जिले में 40 समूह, महराजगंज में 80 समूह व बस्ती में 120 समूहों के गठन का लक्ष्य दिया गया है। इसमें से गोरखपुर में 15, बस्ती में 25, महराजगंज में 16 स्वयं सहायता समूहों का गठन कर लिया गया है। इन समूहों को गन्ना विकास परिषद व चीनी मिलों के द्वारा संयुक्त रूप से प्रशिक्षण दिया जाएगा। स्रोत:- Krishi Jagran, 👉 प्रिय किसान भाइयों दी गई उपयोगी जानकारी को लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
9
0
अन्य लेख