योजना और सब्सिडीकिसान समाधान
30 सितम्बर तक 25 हजार किसानों को दिए जाएंगे सोलर पम्प!
कुसुम योजना के तहत सोलर पम्प की स्थापना - 👉🏻देशभर में सौर उर्जा को बढ़ावा देने के लिए कुसुम योजना चलाई जा रही है | योजना के तहत किसानों को सोलर पम्प एवं सोलर उर्जा प्लांट की स्थापना पर सरकार द्वारा सहायता दी जाती है | सोलर पम्प से जहाँ किसान कम लागत में फसलों की सिंचाई कर सकते हैं वहीँ सोलर पम्पो का उपयोग ऐसे क्षेत्रों में भी किया जा सकता है जहाँ बिजली नहीं है | सोलर पम्प के महत्व को देखते हुए सरकार द्वारा अधिक से अधिक किसानों को सोलर पम्प सब्सिडी पर उपलब्ध करवा रही है | 👉🏻राजस्थान राज्य में गत बजट घोषणा के तहत राज्य में 25 हजार सोलर पम्प स्थापित किए जाने हैं। जिनमें करीब 22 हजार पम्प लगाने के कार्यादेश जारी कर दिए हैं, शेष रहे 3 हजार पम्प के लिए भी नियत तिथि 30 सितम्बर से पहले कार्यादेश जारी करने की बात प्रमुख शासन सचिव ने कही | 22 हजार सोलर पम्प के लिए आदेश जारी- 👉🏻कृषि एवं उद्यानिकी विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री भास्कर ए सावंत ने आगामी 30 सितम्बर तक कुसुम योजना के तहत लक्षित सभी 25 हजार सोलर पम्प के कार्यादेश जारी करने के निर्देश दिए। प्रमुख शासन सचिव ने कहा कि गत बजट घोषणा के तहत राज्य में 25 हजार सोलर पम्प स्थापित किए जाने हैं। करीब 22 हजार पम्प लगाने के कार्यादेश जारी कर दिए हैं, शेष रहे 3 हजार पम्प के लिए भी नियत तिथि 30 सितम्बर से पहले कार्यादेश जारी करना सुनिश्चित करें। उन्होंने सूक्ष्म सिंचाई योजना की समीक्षा करते हुए प्राप्त आवेदनों का शीघ्र सत्यापन कर काश्तकारों को लाभान्वित करने के निर्देश दिए। उन्होंने सत्यापन की ज्यादा पेंडेंसी वाले जिलों को लेकर नाराजगी जाहिर करते हुए जिम्मेदार अधिकारियों को स्पष्टीकरण नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। इस वर्ष स्थापित किए जाएंगे 50 हजार सोलर पम्प - 👉🏻उद्यानिकी विभाग के आयुक्त श्री अभिमन्यु कुमार ने विभागीय योजनाओं की प्रगति से अवगत कराते हुए बताया कि वर्ष 2020-21 की बजट घोषणा की अनुपालना में 25 हजार सोलर पम्प की प्रशासनिक स्वीकृति एवं 21 हजार 845 के कार्यादेश जारी किए गए हैं। इनमें से 18 हजार 808 पम्पों की आपूर्ति कर 17 हजार 530 पम्प स्थापित कर दिए गए हैं । उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार से इस वर्ष 50 हजार सोलर पम्प लगाने का लक्ष्य प्राप्त हुआ है। इसके लिए केन्द्र सरकार के स्तर पर फर्म एम्पेनलमेंट का कार्य किया जा रहा है, तब तक पिछली एम्पेनल्ड फर्मों से 25 प्रतिशत सोलर पम्प स्थापित कराने के निर्देश प्राप्त हुए हैं, जिसके लिए कार्यवाही शुरू कर दी गई है। राज्य में सोलर पम्प पर दी जाने वाली सब्सिडी- 👉🏻योजना के तहत स्टेण्ड अलोन सौर कृषि पम्प की लागत की बेंच मार्क लागत या निविदा लागत इनमें से जो भी कम हो, के लिये 30 प्रतिशत केन्द्रीय सहायता, 30 प्रतिशत राज्य सहायता एवं शेष 40 प्रतिशत अंशदान का भुगतान किसान द्वारा किया जायेगा जिसमें भी केवल 10 प्रतिशत का भुगतान किसान देगा और शेष 30 प्रतिशत ऋण के रूप में बैंक से वित्तिय सहायता दी जायेगी | अर्थात सौर ऊर्जा पम्प सयंत्रों पर किसानों को 60 प्रतिशत अनुदान दिया दिया जायेगा | किसान के हिस्से से लगने वाली 40 प्रतिशत राशि में से 30 प्रतिशत राशि तक का लोन किसान बैंक से ले सकते हैं जिससे उन्हें मात्र 10 प्रतिशत राशि ही देनी होगी | PM-KUSUM योजना के लिए टोल फ्री नम्बर 1800-180-3333 पर कॉल कर अधिक जानकारी ले सकते हैं | स्त्रोत:- किसान समाधान 👉🏻प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
80
16
अन्य लेख