agrostar logo
सभी फसलें
कृषि ज्ञान
कृषि चर्चा
अॅग्री दुकान
सरकार ने आगे आगे बढ़ाई चना खरीद की अंतिम तिथि!
मंडी अपडेटAgrostar
सरकार ने आगे आगे बढ़ाई चना खरीद की अंतिम तिथि!
👉देश भर में गेहूं, चना सहित अन्य रबी फसलों की सरकारी खरीद अंतिम दौर में चल रही है। अधिकांश राज्यों में रबी फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद 31 मई तक किया जाना था परंतु किसानों की माँग को देखते हुए कई राज्य सरकारों ने खरीद की अंतिम तिथि को आगे बढ़ा दिया है। ऐसे में उन किसानों को लाभ होगा जो अभी तक अपनी उपज नहीं बेच पाए थे। मध्य प्रदेश सरकार ने भी राज्य में चने की सरकारी खरीद को आगे बढ़ा दिया है। 👉किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने बताया है कि सरकार ने किसानों के हित में निर्णय लेते हुए समर्थन मूल्य पर चना उपार्जन की तिथि को 7 जून तक बढ़ा दिया है। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का प्रदेश के किसानों की ओर से किसान हितेषी निर्णय के लिए आभार व्यक्त किया है। 👉पहले 31 मई तक खरीदा जाना था चना- राज्य सरकार द्वारा पहले से घोषित चने की सरकारी खरीद के लिए अंतिम तिथि 31 मई थी। मंत्री श्री पटेल ने बताया कि किसानों की सुविधा को देखते हुए 31 मई तक के लिये उपार्जन की तिथि को एक सप्ताह के लिये और बढ़ाया गया है। मंत्री श्री पटेल ने किसानों से अपील की है कि वे 7 जून तक चने की फसल को समर्थन मूल्य पर विक्रय के लिये निर्धारित स्थान पर ले जाएँ। 👉क्या है चने का न्यूनतम समर्थन मूल्य- केंद्र सरकार प्रति वर्ष खरीफ तथा रबी फसलों को मिलाकर कुल 23 फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य जारी करती है। इस मूल्य पर ही सभी सरकारी एजेंसियां फसलों की खरीदी करती है | रबी वर्ष 2022–23 के लिए चने का न्यूनतम समर्थन मूल्य 5230 रुपए प्रति क्विंटल है। 👉एक किसान एक दिन में बेच सकता है 40 क्विंटल चना- मध्यप्रदेश सरकार ने इस वर्ष किसानों से एक दिन में चने की खरीद सीमा में वृद्धि कर दी है। पहले राज्य के किसानों से अधिकतम 25 क्विंटल चना ही खरीदा जाता था जिसे सरकार ने आगे बढ़ाकर 40 क्विंटल कर दिया है। उपार्जन सीमा का निर्धारण इस शर्त के साथ किया गया है कि चना उपार्जन हेतु किसानों की उत्पादकता एवं भूमि अभिलेखों की मैपिंग की गई हो। 👉किसान ऑनलाइन देख सकते हैं भुगतान की स्थिति- सरकार द्वारा की जा रही चने की सरकारी खरीद का भुगतान किसानों को JIT पोर्टल के माध्यम से किया जा रहा है। यदि किन्ही कारणों से किसानों को 72 घंटे के अंदर भुगतान नहीं होता है तो किसान ऑनलाइन पोर्टल http://www.jit.nic.in/PFMS/Default.aspx के माध्यम से देख सकते हैं। या किसान 0752551474 पर फोन करके भुगतान संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं | स्त्रोत:- Agrostar, 👉किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
4
0
अन्य लेख