फसलों को बचाए भीषण गर्मी से !
सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
फसलों को बचाए भीषण गर्मी से !
- राजस्थान में 27 से 29 अप्रैल के बीच में भार्री गर्मी की लहर के वजह से बेल वाली सब्जी और तरबूज, खरबूजा में उच्च तापमानसे नुकसान होने की सम्भावना हैं। - तरबूज, खरबूजा में थ्रिप्स, मकड़ी का प्रकोप बढ़ेगा तो उसे रोकने के लिए कॉन्स्टा 5-7 ग्राम , मेंटो 7 ग्राम, किल- एक्स 10-12 मिली लीटर और ओबेरोन 12 मिली लीटर/पंप लेकर छिडकाव करना चाहिए ! - सब्जी फसलों एवं दलहनी फसलों में फूल एवं फलों के गिरने से रोकने के लिए पुष्पी चिलेटेड कैल्शियम 10 ग्राम, टाटा बोरॉन 15 ग्राम/पंप का प्रयोग करना अधिक लाभकारी होगा। - तरबूज, खरबूजा, टमाटर, बैंगन, मिर्च में पानी समयानुसार दीजिये और बायोविटा,स्टेलर, पीक बूस्टर का अच्छे वृद्धि-विकास के लिए उपयोग कर सकते हैं। - मूंग, उड़द, चोली, ग्वार की फसल में थ्रिप्स और सफेद मक्खी के नियंत्रण के लिए अगरोनिल एक्स 25 मिली, कॉन्स्टा 5-7 ग्राम, मेंटो 7 ग्राम, शटर 5-7 ग्राम, मेड्रिड 12 ग्राम, अडोनिक्स 25 मिली / पंप अधिक फायदेमंद होगा। - प्याजमें थ्रिप्स का प्रकोप बढ़ेगा तो उसे रोकने के लिए कॉन्स्टा 5-7 ग्राम , मेंटो 7 ग्राम, जम्प 5 ग्राम/पम्प लेकर छिडकाव करने से अच्छा परिणाम मिलेगा। - चारावाली बाजरी, जुवार में अधिक तापमान से फसल को बचा के अच्छी बढवार के लिए पीक बूस्टरऔर स्टेलर का उपयोग कीजिये। स्त्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस 👉🏻किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
15
0
अन्य लेख