कारोबार की इस तकनीक से पाएं मासिक मुनाफा 'डबल-ट्रिपल'
बिज़नेस आईडियाkrishi jagran
कारोबार की इस तकनीक से पाएं मासिक मुनाफा 'डबल-ट्रिपल'
👉🏻मछली पालन में कई प्रकार के व्यवसाय शामिल होते हैं. लेकिन बहुत से लोग सोचते हैं की इसके लिए बड़ी जगह होनी चाहिए जबकि ऐसा नहीं है. मछली पालन के लिए हमेशा पानी की एक बड़ी मात्रा की आवश्यकता नहीं पड़ती है. कई प्रजातियों के लिए मछली फार्म घर के अंदर या बाहर होता है जिससे कई किसान खेती के अलावा इस व्यवसाय को अपनाने लगे हैं। छोटे पैमाने पर कैसे शुरू करें मछली पालन:- 👉🏻सबसे पहले आपको यह ध्यान रखना जरूरी है कि आप वही मछली पालिये जिससे आपको कम लागत में अधिक मुनाफा मिल सके. यानी आप एक ही मछली फार्म में कई तरह की मछलियों को जल में पाल सकते हैं। 👉🏻बता दें कि मछली पालन के प्रकार और आपके द्वारा चुनी गई मछली की प्रजातियों के आधार पर ही आपका अच्छा मुनाफा तय होता है. अब आपके लिए यह जानना जरूरी है कि मछली फार्म क्या है और इसे छोटे पैमाने पर कैसे शुरू कर सकते हैं। क्या है मछली फार्म और इसकी ख़ासियत:- 👉🏻फिश फार्म एक ऐसी जगह है जहां मछलियों को कृत्रिम रूप से पाला और बढ़ाया जाता है। 👉🏻समग्र मछली पालन का एक प्रकार हो सकता है. इस प्रकार के मछली पालन में एक ही तालाब में मछलियों की पांच या छह प्रजातियां पाली जाती हैं। 👉🏻मत्स्य पालन जलीय कृषि का हिस्सा है. एक्वाकल्चर में बढ़ते क्रस्टेशियंस और मोलस्क भी शामिल हैं। 👉🏻आने वाले कुछ समय में मछली को समुद्री भोजन में सबसे ज्यादा खाने वाला जलिये जीव माना जायेगा। 👉🏻आपको यह भी बता दें कि पहले से ही, लोगों द्वारा हर साल खाई जाने वाली 30% मछलियों को पाला जाता है। 👉🏻खेती की तुलना में मछली पालन का व्यवसाय 3 गुना की दर से बढ़ रहा है जिससे लोगों को अच्छा खासा मुनाफा भी हो रहा है। 👉🏻मछली फार्म तालाबों, कुंडों या टैंकों में पिंजरों व जाल के साथ बनाया जाता हैं। 👉🏻मछली फार्म लाभदायक और पर्यावरण के अनुकूल होते हैं। इंडोर व आउटडोर फिश फार्मिंग कैसे करें, कौनसा है अच्छा बिज़नेस मॉडल:- 👉🏻मछली को ऑक्सीजन, ताजे पानी और भोजन की आवश्यकता होती है। 👉🏻यदि आप पहले से ही मौजूदा तालाबों के साथ जमीन के मालिक हैं तो आप यह उसी में शुरू कर सकते हैं. लेकिन मौजूदा तालाब हमेशा सबसे अच्छा विकल्प नहीं होते हैं, क्योंकि वे अक्सर बहुत गहरे होते हैं. इससे मछली पकड़ने में दिक्कत होती है। 👉🏻इसलिए कोशिश कीजिये की तालाब प्रणाली 4 से 6 फीट से अधिक गहरी नहीं होनी चाहिए और जल निकासी योग्य होनी चाहिए। 👉🏻इंडोर सिस्टम बची हुई मछली और शिकार जैसी संभावित समस्याओं को खत्म करता है। 👉🏻इनडोर के साथ इष्टतम पानी की गुणवत्ता बनाए रखना आसान है क्योंकि आप बाहरी तत्वों के अधीन नहीं हैं। 👉🏻इसमें तापमान को नियंत्रित करना भी आसान है। 👉🏻कुछ मछलियों को पानी काफी गर्म पसंद होता है। मछली पालन के लिए बुनियादी जरूरतें:- 👉🏻ऑक्सीजन - चाहे आप घर के अंदर हों या बाहर, आपको वाटर रीसर्कुलेटिंग या वातन प्रणाली की आवश्यकता होती है. आप प्रत्येक टैंक या तालाब के लिए एक वातन प्रणाली जरूर अपनाएं। 👉🏻पानी - आपको प्रति सतह पानी में कम से कम 15 गैलन प्रति मिनट की आवश्यकता होती है. निश्चित करें की जब भी पानी बदले वह साफ़ और ताज़ा हो। 👉🏻भोजन - वाणिज्यिक चारा, छर्रों या मछली भोजन आजकल आसानी से उपलब्ध हैं। स्रोत:- Krishi Jagran, 👉🏻किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
5
2
अन्य लेख