किसानों को अब पैक्स में मिलेगी रासायनिक खाद!
समाचारAgrostar
किसानों को अब पैक्स में मिलेगी रासायनिक खाद!
▶▶खरीफ फसलों का वक्त खत्म हो रहा है और रबी फसलों की बुवाई का समय अब नजदीक आ रहा है. ऐसे में राज्यों ने उर्वरकों की उपलब्धता को लेकर तैयारी शुरू कर दी है. खासतौर पर उन सूबों में इसकी तैयारी पहले से हो रही है जहां पर पिछले रबी सीजन में खाद के लिए हाहाकार मचा हुआ था. मध्य प्रदेश सरकार ने ऐसे किसान जो प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के ऋणी हैं और सदस्य नहीं है उनके लिए एक बड़ा निर्णय लिया है. इसके मुताबिक अब ऋणी किसान और जो पैक्स के सदस्य नहीं हैं, वो भी पैक्स के जरिए उर्वरक प्राप्त कर सकेंगे. इससे लाखों किसानों को राहत मिलेगी. ▶▶प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों (पैक्स) से प्रदेश के सभी किसानों को रासायनिक उवर्रकों की उपब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश सहकारिता विभाग द्वारा जारी कर दिए गए हैं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा कृषकों को उवर्रकों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के हाल ही में दिए निर्देशों पर सहकारिता मंत्री डॉ. अरविन्द सिंह भदौरिया ने विभागीय अधिकारियों को काम करने के लिए कहा था. 👉🏻पैक्स का सदस्य होना भी जरूरी नहीं:- ▶▶सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया ने बताया कि प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के पूर्व के बकाया ऋण को अदा नहीं करने से कृषक ऋणी हो गए. ऋणी कृषकों को पैक्स से ऋण और खाद-बीज मिलने की पात्रता भी नहीं रहती है. साथ ही अभी तक पैक्स को नगद में खाद-बीज बिक्री पर रोक रही है. ▶▶किसानों को पैक्स से खाद-बीज प्राप्त करने के लिए पैक्स का सदस्य होना भी जरूरी रहा है. लेकिन, अब किसानों के हित में निर्णय लिया गया है कि पैक्स संस्था में नगद में भी उर्वरक एवं बीज की बिक्री होगी. इससे ऋणी कृषक और जो पैक्स के सदस्य नहीं हैं, वे कृषक भी पैक्स से उर्वरक प्राप्त कर सकेंगे. 👉🏻ताकि किसानों को मिले पूरी खाद:- ▶▶उर्वरक का भंडारण करने में आर्थिक रूप से कमजोर पैक्स को क्रेडिट पर 25 टन उर्वरक देने के निर्देश विपणन संघ को दिए गए हैं, जिससे कि आर्थिक रूप से कमजोर पैक्स कृषकों को उर्वरक देने में सक्षम हो सकें. प्रत्येक पैक्स को विपणन संघ द्वारा क्रेडिट पर 25 टन उर्वरक दिया जाएगा. यह पैक्स 25 टन उर्वरक के विक्रय से प्राप्त राशि से फिर वो उर्वरक की खरीद करेगा. इससे किसानों को निर्बाध रूप से उर्वरक उपलब्ध कराना सुनिश्चित होगा। स्त्रोत:- Agrostar 👉🏻किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
20
0
अन्य लेख