AgroStar
किसानों को सब्सिडी पर दिए जाएँगे रोटावेटर एवं अन्य कृषि यंत्र!
कृषी वार्ताAgrostar
किसानों को सब्सिडी पर दिए जाएँगे रोटावेटर एवं अन्य कृषि यंत्र!
👉🏻इस वित्त वर्ष किसानों को सरकार की योजनाओं का लाभ मिल सके इसके लिए सरकार ने किसानों से अलग-अलग योजनाओं के तहत आवेदन आमंत्रित कर रही है। इस कड़ी में बीते दिनों मध्य प्रदेश के कृषि अभियांत्रिकी संचनालय द्वारा किसानों को सब्सिडी पर रोटावेटर एवं अन्य कृषि यंत्रों के लिए आवेदन माँगे गए थे। जिसमें त्रि-स्तरीय चुनाव के चलते अभी तक किसानों का चयन नहीं किया गया था परंतु अब चुनाव प्रक्रिया पूर्ण होते ही कृषि अभियांत्रिकी विभाग ने लॉटरी जारी कर दी है। 👉🏻राज्य के अलग-अलग ज़िलों के लिए सरकार ने विभिन्न कृषि यंत्रों के लिए अलग-अलग लक्ष्य जारी किए थे। जिसके तहत अलग-अलग वर्ग के किसान 25 मई 2022 से 6 जून 2022 तक आवेदन कर सकते थे। इस दौरान जिन किसानों ने आवेदन किया था उनमें से लॉटरी निकाल कर किसानों का चयन किया गया है। किसान यह सूची पोर्टल पर देख सकते हैं। यह लॉटरी विभाग द्वारा 5 अगस्त 2022 के दिन जारी की गई है। 👉🏻इन कृषि यंत्रों के लिए किसानों से माँगे गए थे आवेदन कृषि अभियांत्रिकी संचनालय की तरफ से विभिन्न प्रकार के कृषि यंत्रों के लिए आवेदन माँगे गए थे, जो इस प्रकार हैं:– रोटावेटर रिवर्सिवल प्लाऊ/मेकेनिकल/हाइड्रोलिक सीड ड्रिल सीड कम फर्टिलाइजर ड्रिल 👉🏻यह किसान ले सकेंगे सब्सिडी पर कृषि यंत्र अलग-अलग ज़िले एवं किसान वर्ग के अनुसार यह कम्प्यूटरीकृत लॉटरी निकाली गई है। इस लिस्ट में लक्ष्य से अधिक किसानों का नाम है जिसमें यदि चयनित किसान यंत्र नहीं लेते हैं तो वह यंत्र लेने का मौका अन्य किसानों को दिया जायेगा। उदहारण के लिए यदि किसी जिले में 4 किसानों को रोटावेटर Alloted किया गया है तो उसके अलावा 10 अन्य किसान हैं जो वेटिंग (Waiting) में है अर्थात इन किसानों को रोटावेटर एवं अन्य कृषि यंत्र तब ही दिया जायेगा जब ऊपर के चयनित किसान किसी कारण से कृषि यंत्र नहीं लेते हैं। 👉🏻किसानों को कृषि यंत्रों पर सब्सिडी देने की प्रक्रिया में किया गया है परिवर्तन:- ◾लॉटरी से चयन उपरांत किसानों को विभाग द्वारा क्रय स्वीकृति जारी की जायेगी। क्रय स्वीकृति हेतु यदि किसी अभिलेख की अतिरिक्त आवश्यकता होगी तो संबंधित कार्यालय द्वारा किसान को पृथक से अवगत कराया जायेगा। यदि किसी यंत्र हेतु धरोहर राशि का ड्रॉफ्ट भी चाहा गया है तो वह भी कार्यालय में प्रस्तुत किया जाना होगा। ◾क्रय स्वीकृति जारी होने पर कृषक को अपनी पसंद के डीलर से चाहे गये मॉडल को खरीदने की दर के संबंध में मोलभाव कर अंतिम दर प्राप्त करनी होगी। डीलरों की सूची आवेदन के प्रिंट आउट के साथ प्राप्त होगी। ◾पोर्टल पर प्रत्येक कृषक को कृषक लॉगइन अंतर्गत लॉगइन करके क्रय किये जाने वाले मॉडल तथा मोलभाव उपरांत निश्चित की गई खरीदने की दर के साथ-साथ निर्माता तथा संबंधित डीलर का चयन करना होगा। ◾किसानों द्वारा किसान लॉगइन अंतर्गत चयन किये गये डीलर के यहॉ ही उसका प्रकरण खुलेगा तथा आगे क्रय की कार्यवाही की जाना होगी। ◾शासन द्वारा नरसिंहपुर जिले का चयन “ई-रूपी वाउचर” से अनुदान भुगतान हेतु किया गया है अतः उपरोक्त 1 से 4 बिन्दुओं की कार्यवाही उपरांत आगे की कार्यवाही हेतु नरसिंहपुर जिले हेतु पृथक से निर्देश जारी किये जाएँगे। नरसिंहपुर जिले को छोड़कर अन्य जिलों में आगे की कार्यवाही पूर्व की व्यवस्था अंतर्गत ही होगी। स्त्रोत:- Agrostar, 👉🏻किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
23
5
अन्य लेख