मधुमक्खी पालन के लिए सरकार दे रही  80 से 85 प्रतिशत अनुदान!
जुगाड़Agrostar
मधुमक्खी पालन के लिए सरकार दे रही 80 से 85 प्रतिशत अनुदान!
👉नमस्कार किसान भाइयों स्वागत है आप सभी का एग्रोस्टार के कृषि लेख में,अगर आप मधुमक्खी का पालन करते हैं, लेकिन फिर भी अधिक मात्रा में शहद नहीं प्राप्त कर पाते हैं, तो यह लेख आपके लिए बेहद मददगार साबित होगा. जानें इस मधुमक्खी से आपका व्यापार आगे बढ़ेगा. 👉देश के किसान भाई अधिक आय कमाने के लिए अब बागवानी फसलों के साथ अन्य व्यापार को भी कर रहे हैं. अगर आप भी बागवानी की फसल करते हैं, तो आपके लिए मधुमक्खी पालन का व्यवसाय सबसे उत्तम है. दरअसल, मधुमक्खी का बिजनेस आज के समय में बहुत ही तेजी से उभर कर सामने आ रहा है. 👉देखा जाए, तो भारत में लगभग 80000 मिलियम से भी कहीं अधिक शहद का उत्पादन किया जाता है. यह शहद भारतीय मंडियों से लेकर विदेशों के बाजार में भी निर्यात किया जाता है. ऐसे में अगर आप भी मधुमक्खी पालन का बिजनेस करते हैं, तो आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं, लेकिन अच्छा लाभ कमाने के लिए भी आपको सही तरीके की मधुमक्खी का भी पता होना चाहिए कि आपको कौन सी मधुमक्खी पालनी चाहिए, जो आपकी आय को बढ़ाने में मदद कर सकें. 👉इटालियन मधुमक्खी:- अधिक मात्रा में शहद उत्पादन प्राप्त के लिए आपको मधुमक्खियों की उन्नत प्रजातियां का चयन करना चाहिए. वैसे तो मधुमक्खी की आम प्रजातियां जो आपको सरलता से कहीं भी देखने को मिल जाती हैं. वह भी शहद इकट्ठा करती हैं, लेकिन आम मधुक्खियों की तुलना में 3 गुना अधिक शहद उत्पादन प्राप्त करने के लिए इटालियन मधुमक्खी (Italian Honey Bee Farming) का चयन करना चाहिए. 👉इटालियन मधुमक्खी की खासियत:- इस प्रजाति की मधुमक्खी सबसे अधिक फ्रेंडली होती हैं, जो चारों दिशाओं से शहद इकठ्ठा कर वापस अपने घर लौट आती हैं. ये ही नहीं इटालियन मधुमक्खी की आबादी कम समय में ही लगभग 50 हजार तक पहुंच जाती है और यह 3 गुना तक शहद इकट्ठा कर किसानों को मालामाल बना देती है. 👉इटालियन मधुमक्खी के शहद से कई उत्पादों का निर्माण:- आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इटालियन मधुमक्खी का श्रेय पंजाब कृषि विश्वविद्यालय को दिया गया है. जिन्होंने साल 1963 में इटालियन मधुमक्खी पर रिसर्च की गई है. इसके बाद इसे पंजाब के किसानों को ट्रेनिंग देकर उन्हें मुनाफा कमाने के लिए यह मधुमक्खी दे दिया. इस मधुमक्खी के शहद की क्वालिटी बाकी मधुमक्खी के मुकाबले बेहद अच्छी होती है. शायद इसलिए इसकी कीमत भी देश-विदेश के बाजार में काफी अधिक होती है. 👉अगर आप इटालियन मधुमक्खी की सही से देखभाल और यूनिट के बेहतर प्रबंधन के जरिये लगभग 40 से 50 किलोग्राम प्रति बक्सा के हिसाब से शहद उत्पादन प्राप्त कर सकते हैं. वहीं अगर आप बागानों के साथ इटालियन मधुमक्खी पालन करते हैं, तो आप इससे ओर भी अधिक मुनाफा कमा सकते हैं. 👉सरकारी की मदद से करें मधुमक्खी पालन :- आप अगर पहली बार मधुमक्खी पालन कर रहे हैं, तो इसके लिए आप सरकार की भी मदद ले सकते हैं. दरअसल, सरकार राष्ट्रीय बागवानी मिशन के तहत किसानों को इसके लिए ट्रेनिंग भी देती है. 👉इसके अलावा मधुमक्खी पालन के लिए नाबार्ड और राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड भी कई योजनाओं हैं, जिससे जुड़कर देश के किसान भाई लाभ उठा रहे हैं. बता दें कि भारत सरकार की तरफ से मधुमक्खी पालन के लिए लगभग 80 से 85 प्रतिशत तक आर्थिक अनुदान दिया जाता है. 👉स्त्रोत:-Agrostar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
8
2
अन्य लेख