हर बच्चा होगा होशियार!
समाचारAgrostar
हर बच्चा होगा होशियार!
👉यूपी सरकार द्वारा चलाए जा रहे सेकेंडरी स्कूल के लगभग 4.45 लाख स्टूडेंट्स को एक्स्ट्रा क्लास से फायदा पहुंचने वाला है. स्कूल के स्टूडेंट्स को हिंदी, इंग्लिश, साइंस और मैथ्स सहित अन्य सब्जेक्ट्स में उनकी समझ सुधारने के लिए एक्स्ट्रा क्लास चलाई जाएंगी. अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी. यूपी के Sarkari Schools में एक्सट्रा क्लास की शुरुआत अक्टूबर से होगी और ये साढ़े तीन महीने तक चलने वाली हैं. इस तरह 15 जनवरी को 9वीं और 12वीं क्लास तक के स्टूडेंट्स के लिए चलने वाली एक्स्ट्रा क्लास खत्म हो जाएगी. सरकार का मकसद है कि यूपी के स्कूलों में पढ़ने वाला हर बच्चा होशियार बने। 👉सरकार द्वारा चलाए जा रहे सेकेंडरी स्कूल के लगभग 4.45 लाख स्टूडेंट्स को इस पहल से फायदा पहुंचने वाला है. 9वीं और 10वीं क्लास के 98,057 स्टूडेंट्स और 11वीं और 12वीं क्लास के 3,47,729 स्टूडेंट्स की पहचान की गई है, जिन्हें एक्स्ट्रा क्लास में हिस्सा लेना है. 👉कैसे कमजोर स्टूडेंट्स की हुई पहचान? अगर कोई स्टूडेंट कई बार अनुपस्थित पाया जाता है. अगर किसी स्टूडेंट की याद करने की स्किल खराब है. अगर एक स्टूडेंट्स धीमी रफ्तार से सीखता है और उसमें आत्मविश्वास की कमी है. कोई फैकल्टी मेंबर लंबे समय से गैरहाजिर है तो उसे पढ़ाने वाले बच्चों की एक्स्ट्रा क्लास ली जाएगी. एक अधिकारी ने कहा, ‘डिपार्टमेंट चाहता है कि सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स का रिजल्ट सुधरे. ऐसे में एक्स्ट्रा क्लास शुरू करने का फैसला किया गया है.’ 👉स्टूडेंट्स का तीन बार मूल्यांकन किया जाएगा:- हर स्टूडेंट के फाउंडेशन को चेक करने के लिए पहला मूल्यांकन 10 अक्टूबर को होगा. दूसरा मूल्यांकन 5 से 12 नवंबर को किया जाएगा. तीसरा मूल्यांकन 27 दिसंबर से 15 जनवरी तक किया जाएगा. स्टूडेंट्स के सीखने की क्षमता को समझने के लिए हर स्कूल की तरफ से हर चैप्टर के पूरा होने पर क्विज का आयोजन किया जाएगा. स्टूडेंट्स के पैरेंट्स से उनके बच्चों की प्रगति के बारे में जानने के लिए समय-समय पर संपर्क किया जाएगा. 👉स्त्रोत:-Agrostar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
4
0
अन्य लेख