सोयाबीन में पत्ती धब्बा रोग का नियंत्रण!
गुरु ज्ञानतुषार भट
सोयाबीन में पत्ती धब्बा रोग का नियंत्रण!
👉सोयाबीन में पत्ती धब्बा रोग के लक्षण किस प्रकार दिखाई पड़ते है और किस प्रकार इनके प्रभाव को कम किया जा सकता है? सोयाबीन में पत्ती धब्बा रोग के लक्षण: ◆ यह एक फफूंद जनित रोग है। ◆ इससे तने एवं फली पर भी भूरे धब्बे दिखाई देते है। ◆ अधिक नमी की उपस्थिति में पत्तियां ऐसे प्रतीत होते है जैसे पानी में उबाली गई हो। ◆ रोगग्रस्त पौधे की पत्तियों में दाग एवं झुलसन के साथ-साथ पत्तियों का गिरना आदि लक्षण प्रदर्शित करते है। सोयाबीन में पत्ती धब्बा रोग के नियंत्रण: 1) टेबुकोनाजोल 10% + सल्फर 65% डब्लल्यू. जी दवा की 400 ग्राम मात्रा को 150 लीटर पानी में घोलकर प्रति एकड़ छिड़काव करे। या 2) टेबुकोनाजोल 25.9% ई.सी. दवा की 250 मिली लीटर मात्रा की 200 लीटर पानी में घोलकर प्रति एकड़ छिड़काव करें। स्त्रोत:-तुषार भट, 👉किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
6
0
अन्य लेख