AgroStar
 सुकन्या समृध्दि योजना के बदले 5 नियम!
समाचारAgrostar
सुकन्या समृध्दि योजना के बदले 5 नियम!
👉नमस्कार किसान भाईयों स्वागत है आप सभी का एग्रोस्टार के कृषि लेख में, सुकन्या समृद्धि योजना सरकारी लघु बचत योजना श्रेणी में एक लोकप्रिय बचत योजना है। अगर आपके घर में 10 साल से कम उम्र की बेटी है तो आप उसके नाम से सुकन्या समृद्धि खाता खुलवा सकते हैं । केंद्र सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना से जुड़े 5 बड़े बदलाव किए हैं। बदलाव के बाद इस योजना ( SSY ) में निवेश करना आसान हो गया है। यह उन माता-पिता के लिए एक बेहतर मौका है, जिनके घर में 10 साल से कम उम्र की बेटी है। आइए जानते हैं, सुकन्या समृद्धि खाता योजना में क्या हैं बदलाव? 1. खाता अब डिफ़ॉल्ट नहीं होगा:- सुकन्या समृद्धि योजना में हर साल न्यूनतम 250 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा करने का प्रावधान है। पहले न्यूनतम राशि जमा नहीं करने पर सुकन्या समृद्धि खाता डिफॉल्ट हो जाता था। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. अब खाता दोबारा सक्रिय नहीं होने पर खाते में जमा राशि पर मैच्योरिटी तक लागू दर पर ब्याज मिलता रहेगा। 2. तीसरी बेटी के खाते पर भी टैक्स छूट :- इससे पहले इस योजना में दो बेटियों के सुकन्या समृद्धि खाता पर 80सी के तहत टैक्स छूट का प्रावधान था। तीसरी बेटी के लिए यह किसी काम का नहीं था । लेकिन अब अगर एक बेटी के बाद दो जुड़वां बेटियां हैं तो दोनों के लिए सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोलने का प्रावधान है, और टैक्स में छूट मिलेगी. 3. अब लड़की 18 साल की उम्र में अकाउंट ऑपरेट कर सकेगी:- पहले के नियम के अनुसार, वह 10 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद स्वयं अपना सुकन्या समृद्धि खाता संचालित कर सकती थी। लेकिन अब बेटी को 18 साल की उम्र के बाद ही ऑपरेशन का अधिकार मिलेगा। इससे पहले बेटी के माता-पिता इस सुकन्या समृद्धि योजना खाते को संचालित कर सकेंगे। 4. अब अकाउंट बंद करना हुआ आसान:- सुकन्या समृद्धि योजना का खाता बेटी की मृत्यु या उसका पता बदलने पर पहले बंद किया जा सकता है। लेकिन अब सुकन्या समृद्धि खाता धारकों को कोई जानलेवा बीमारी होने पर भी खाता बंद किया जा सकता है. यदि अभिभावक की मृत्यु हो जाती है, तो भी खाता परिपक्वता से पहले बंद किया जा सकता है। 5. समय पर मिलेगा ब्याज:- नए नियमों के तहत सुकन्या समृद्धि खाता में गलत ब्याज वापस करने का प्रावधान हटा दिया गया है। इसके अलावा, खाते का वार्षिक ब्याज प्रत्येक वित्तीय वर्ष के अंत में जमा किया जाएगा। साल 2015 में मोदी सरकार ने ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान के तहत सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत की थी ! सुकन्या समृद्धि योजना ( SSY ) में निवेश पर ब्याज 7.6 प्रतिशत प्रतिवर्ष है। क्या दस्तावेज देने होंगे:- सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खोलने के लिए आवेदक को फॉर्म के साथ अपनी बेटी का जन्म प्रमाण पत्र पोस्ट ऑफ़िस ( Post Office ) या बैंक में जमा करना होगा। इसके अलावा बच्चे और माता-पिता का पहचान पत्र (पैन कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट) और वे कहां रह रहे हैं इसका प्रमाण (पासपोर्ट, राशन कार्ड, बिजली बिल, टेलीफोन बिल, पानी का बिल) होगा। प्रस्तुत किया जाना है। तभी सुकन्या समृद्धि खाता खुलवा सकतें है ! कब परिपक्व होती है:- पोस्ट ऑफ़िस की सुकन्या समृद्धि योजना के तहत जमा की गई रकम बच्ची के 21 साल की होने पर मैच्योर होती है। यानी आप 21 साल बाद पैसे निकाल सकते हैं। हालांकि, अगर बेटी की शादी 18 साल की उम्र के बाद हो जाती है, तो पैसे निकाले जा सकते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना में इसके अलावा आप 18 साल की उम्र के बाद बेटी की पढ़ाई के लिए 50 फीसदी तक पैसा निकाल सकते हैं । अभिभावक अपनी 2 बेटियों के लिए सुकन्या समृद्धि खाता खुलवा सकतें है ! 👉स्त्रोत:-Agrostar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
8
0
अन्य लेख