सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
सरसों की फसल के लिए खाद एवं उर्वरक प्रबंधन!
👉🏻किसान मित्रों रबी सीजन की महत्वपूर्ण फसल सरसों की खेती अब शुरू हो गयी हैं, आइये जानते हैं किस प्रकार आप कर सकते हैं अपनी सरसों की फसल में खाद एवं उर्वरक प्रबंधन! 👉🏻सिंचित क्षेत्रों के लिए अच्छी सडी हुई गोबर या कम्पोस्ट खाद 100 क्विंटल प्रति हेक्टेयर अथवा केचुंआ की खाद 25 क्विंटल/प्रति हेक्टेयर बुवाई के पूर्व खेत में डालकर जुताई के समय खेत में अच्छी तरह मिला दें। बारानी क्षेत्रों में देशी खाद (गोबर या कम्पोस्ट) 40-50 क्विंटल प्रति हेक्टेयर की दर से वर्षा के पूर्व खेत में डालें और वर्षा के मौसम मे खेत की तैयारी के समय खेत में मिला दें। राई-सरसों से भरपूर पैदावार लेने के लिए रासायनिक उर्वरकों का संतुलित मात्रा में उपयोग करने से उपज पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। उर्वरको का प्रयोग मृदा परीक्षण के आधार पर करना अधिक उपयोगी होगा। राई-सरसों को नत्रजन, स्फुर एवं पोटाश जैसे प्राथमिक तत्वों के अलावा गंधक या सल्फर तत्व की आवश्यकता अन्य फसलों की तुलना में अधिक होती है। इसीलिए बुवाई से पूर्व खेत की तैयारी करते समय सल्फर 90% @ 3 किग्रा० प्रति एकड़ की दर से मिट्टी में मिलाएं। स्त्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेण्टर ऑफ़ एक्सीलेंस, 👉🏻प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक👍करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
8
1
अन्य लेख