स्वास्थ्य सलाहजी न्यूज़
रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाएगा अदरक और तुलसी का काढ़ा, जानिए विधि
👉🏻हमारे देश में काढ़ा पीने का चलन प्राचीन काल से है. देश के अलग-अलग हिस्सों में कई तरह के काढ़ा बनाए जाते हैं. इसके सेवन से रोग-प्रतिरोधक (Immunity) क्षमता मजबूत होती है. इस बदलते मौसम में बच्चों व बड़ों को सर्दी, जुकाम और वायरल फीवर से बचाने के लिए तुलसी का काढ़ा पीना फायदेमंद माना जाता है. तुलसी एक औषधि है, जिसका इस्तेमाल कई बीमारियों में किया जाता है। तुलसी का काढ़ा 👉🏻तुलसी (Basil) में एंटीबायोटिक गुण पाए जाते हैं. आयुर्वेद में तुलसी के पौधे के हर भाग को स्वास्थ्य के लिहाज से फायदेमंद बताया गया है. तुलसी की पत्तियों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के गुण मौजूद होते हैं। अगर इसका काढ़ा के रूप में सेवन किया जाए तो इसके सकारात्मक फायदे देखने को मिलते हैं. जानिए घर पर तुलसी का काढ़ा बनाने की आसान विधि। तुलसी का काढ़ा पीने के फायदे 👉🏻सर्दी, जुकाम और गले में खराश से जल्द राहत दिलाने के लिए तुलसी का काढ़ा पीने की सलाह दी जाती है। 1. तुलसी के पत्ते को पानी में उबालकर थोड़ा सा सेंधा नमक मिलाकर काढ़ा बनाकर पीने से फ्लू रोग जल्दी ठीक हो सकता है। 2. हार्ट के मरीजों को नियमित तौर पर तुलसी के पत्तों का काढ़ा पीने की सलाह दी जाती है. तुलसी का काढ़ा शरीर के कोलेस्ट्रॉल (Cholestrol) को नियंत्रित करने का काम करता है। 3. अगर आपको सर्दी या फिर हल्का बुखार है तो मिश्री, काली मिर्च और तुलसी की पत्तियों को पानी में पकाकर उसका काढ़ा पीने से फायदा होता है। 👉🏻 खेती तथा खेती सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए कृषि ज्ञान को फॉलो करें। फॉलो करने के लिए अभी ulink://android.agrostar.in/publicProfile?userId=558020 क्लिक करें। स्रोत:- ज़ी न्यूज, 👉🏻 प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। यदि दी गई जानकारी आपको उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
5
1
अन्य लेख