AgroStar
राजस्थान सरकार ने सूखा प्रभावित किसानों के लिए केंद्र से मांगी मदद!
कृषि वार्ताTV9
राजस्थान सरकार ने सूखा प्रभावित किसानों के लिए केंद्र से मांगी मदद!
👉🏻इस साल अतिवृष्टि और बेमौसमी बारिश और सूखे से राजस्थान में फसलों को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है. ऐसे में राजस्थान सरकार ने सूखे से खराब हुईं फसलों को लेकर केंद्र सरकार से 2668 करोड़ रुपये की अतिरिक्त सहायता की मांग की है. ताकि प्रभावित किसानों की मदद की जा सके. राज्य सरकार ने खरीफ-2021 में सूखे के कारण 33 प्रतिशत या इससे अधिक फसल खराबे से प्रभावित किसानों को कृषि आदान-अनुदान के वितरण एवं राहत गतिविधियों के संचालन के लिए केन्द्र से इस रकम की मांग की है! 👉🏻मुख्यमंत्री ने इस संबंध में केन्द्र सरकार को भेजे जाने वाले ज्ञापन को मंजूरी दे दी है. राज्य सरकार ने बताया कि खरीफ-2021 के दौरान प्रदेश में सूखे से फसल खराबे की ग्राउंड सर्वे किया गया है. इसकी रिपोर्ट के आधार पर राज्य के 10 जिलों अजमेर, बाड़मेर, बीकानेर, हनुमानगढ़, जालोर, जैसलमेर, पाली, सिरोही, चूरू एवं जोधपुर की 64 तहसीलों को गंभीर श्रेणी की सूखाग्रस्त घोषित किया गया हैं ! 64 तहसीलों में सूखा- 👉🏻राज्य सरकार ने बताया कि गंभीर श्रेणी के सूखे से प्रभावित इन 64 तहसीलों में 33 प्रतिशत या इससे अधिक फसलों का खराबा होने के कारण किसान परेशान हैं. प्रभावित किसानों को कृषि आदान-अनुदान वितरित करने एवं राहत गतिविधियों के संचालन के लिए राज्य सरकार का आपदा प्रबंधन विभाग भारत सरकार से अतिरिक्त मदद चाहता है. गहलोत के इस निर्णय से सूखा प्रभावित क्षेत्रों में कृषि आदान एवं अनुदान वितरण तथा राहत गतिविधियों का संचालन शीघ्र हो सकेगा. इससे इन प्रभावित जिलों के किसानों को बड़ा संबल मिलेगा! अतिवृष्टि और सूखा दोनों - 👉🏻बताया गया है कि करीब सात सौ गांवों में खरीफ की फसल में सूखे से 33 प्रतिशत या इससे ज्यादा नुकसान (खराबे) का आकलन किया गया है. राजस्थान (Rajasthan) में इस बार औसत से कम बारिश दर्ज की गई है. प्रदेश में एक जून से 31 अगस्त कर सामान्य से 12.30 फीसदी कम बारिश हुई है. इससे पहले मुख्यमंत्री ने अतिवृष्टि की वजह से खरीफ फसलों को हुए नुकसान से प्रभावित 7 जिलों के 3704 गांवों को अभावग्रस्त घोषित करने की स्वीकृति दी थी! स्त्रोत:- TV9 👉🏻प्रिय किसान भाइयों दी गई उपयोगी जानकारी को लाइक👍🏻करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
62
2
अन्य लेख