AgroStar
यूपी में हर यूनिवर्सिटी में ली जाएगी एक समान फीस!
समाचारAgrostar
यूपी में हर यूनिवर्सिटी में ली जाएगी एक समान फीस!
👉नमस्कार किसान भाइयों उत्तर प्रदेश में वर्तमान अकेडमिक ईयर से समान फीस स्ट्रक्चर लागू किया जाएगा. इससे हायर एजुकेशन की पढ़ाई करने वाले लाखों स्टूडेंट्स को राज्य सरकार ने बड़ी राहत दी है. 👉उत्तर प्रदेश में हायर एजुकेशन की पढ़ाई करने वाले लाखों स्टूडेंट्स को राज्य सरकार ने बड़ी राहत दी है. दरअसल, यूपी सरकार ने स्टेट यूनिवर्सिटीज के लिए एक समान एग्जामिनेशन फीस स्ट्रक्चर तैयार किया है. इस कदम से अंडरग्रेजुएट कोर्सेज के लिए एग्जामिनेशन फीस स्ट्रक्चर में असमानता खत्म हो जाएगी. उच्च शिक्षा विभाग ने 11 जुलाई को जारी एक आदेश में ऐलान किया कि सभी स्टेट यूनिवर्सिटीज 10 यूजी कोर्सेज के लिए प्रति सेमेस्टर एग्जामिनेशन फीस के रूप में 800 रुपये लेंगे. इन कोर्सेज में बीए, बीएससी, बीकॉम, बीबीए, बीसीए, बीएड, बीजेएमसी, बीएफए, बीपीएड, और बी वोकेशनल शामिल हैं. 👉वहीं एलएलबी, बीटेक, बीएससी एग्रीकल्चर (ऑनर्स), लॉ (ऑनर्स), बीएससी बायोटेक और बैचलर ऑफ लाइब्रेरी साइंसेज जैसे छह कोर्सेज के लिए एग्जामिनेशन फीस प्रति सेमेस्टर 1000 रुपये तय किया गया है. ठीक इसी तरह से डेंटल और नर्सिंग कोर्सेज, बीएएमएस/बीयूएमएस के लिए एग्जामिनेशन फीस प्रति सेमेस्टर 1500 रुपये निर्धारित किया गया है. वर्तमान अकेडमिक ईयर से समान फीस स्ट्रक्चर लागू किया जाएगा. नेशनल एजुकेशनल पॉलिसी के अनुसार यूनिवर्सिटीज में सेमेस्टर सिस्टम शुरू हो गया. इसके बाद यूनिवर्सिटीज ने एग्जामिनेशन फीस में इजाफे की मांग के प्रस्ताव को भेजा. वहीं, अब सरकार ने इस प्रस्ताव को लेकर फीस स्ट्रक्चर को लेकर ये कदम उठाया है. 👉यूनिवर्सिटीज के लिए आय का सोर्स है एग्जामिनेशन फीस:- उच्च शिक्षा विभाग के विशेष सचिव मनोज सिंह की तरफ से जारी किए गए आदेश में कहा गया कि सेमेस्टर सिस्टम लागू हो चुका है. इस वजह से अब यूनिवर्सिटीज को दो बार एग्जाम करवाने होंगे. ऐसे में क्वेश्चन पेपर और आंसर शीट को प्रिंट करने, मूल्यांकन, एग्जामिनर्स को पैसे देने, फ्लाइंड स्क्वाड और रिजल्ट को पब्लिश करने के खर्चे डबल हो जाएंगे. यूनिवर्सिटीज के लिए आय का सबसे बड़ा सोर्स स्टूडेंट्स से एग्जामिनेशन फीस है. इसे ध्यान में रखते हुए, छह सदस्यीय समिति ने फीस में इजाफे के प्रस्तावों की जांच की. उसने पाया कि स्टेट यूनिवर्सिटीज में अलग-अलग यूजी और पीजी कोर्सेज के लिए एग्जामिनेशन फीस अलग-अलग है. 👉आदेश में कहा गया, ‘स्टूडेंट्स से अलग-अलग फीस चार्ज करना तर्कहीन है. इसलिए, एक समान फीस स्ट्रक्चर तय की गई है.’ यूपी में मेडिकल को छोड़कर 19 यूनिवर्सिटीज हैं. सेमेस्टर सिस्टम से पहले, एग्जामिनेशन फीस सालाना लिया जाता था और 800-3,000 रुपये के बीच होता था. अब सभी यूनिवर्सिटीज एक कोर्स के लिए समान एग्जामिनेशन फीस लेंगे. 👉स्रोत:- Agrostar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!"
4
3
अन्य लेख