मौसम का बदला मिजाज!
मौसम की जानकारीमौसम तक Devendra Tripathi
मौसम का बदला मिजाज!
👉राजस्थान के साप्ताहिक मौसम पूर्वानुमान में आप सभी किसान भाइयों का स्वागत है आज हम जानेंगे 5 से 8 जनवरी के बीच कैसा रहेगा मौसम का हाल और प्रदेश के बांसवाड़ा,बाड़मेर,चित्तौड़गढ़,झालावर,प्रतापगढ़,सिरोही,उदयपुर को छोड़ कर पूरे राजस्थान में कड़ाके की ठंढ बढ़ने के आसार है और जिसमे श्री गंगानगर ,हनुमानगढ़, चूरू और ,सीकर में गंभीर शीत लहर और ज़मीनी पाला का अनुभव होगा, जिससे कई फसलों को ठंड से नुकसान हो सकता है। सबसे कम तापमान। (देश स्तर पर) -0.9 डिग्री सेल्सियस चूरू में दर्ज किया गया है और 7 जनवरी 2023 तक ऐसा ही रहने की संभावना है। 👉ऐसे में राजस्थान के किसान अपनी फसल को सर्दी से बचाव के लिए विषेस ध्यान दे और सब्जियों की फसलों में हवा के साथ ठंड बढ़ने से माहू और फफूंदी जनित रोग का प्रकोप बढ़ सकता है इसलिए शटर 7 ग्राम + टेबुल (टेबुकोनाज़ोल 10% + सल्फर 65% WG) को 40 ग्राम प्रति पंप छिड़काव करना चाहिए | 👉सरसों की फसल में सफेद रस्ट और पत्ती धब्बा रोग को रोकने के लिए और अच्छी बढवार के लिए मेटलग्रो 35 ग्राम + स्टेलर 30 एमएल प्रति पंप छिड़काव करना चाहिए | 👉फसल को ठंड से बचाव के लिए नाइट्रोजन वाले उर्वरक का प्रयोग कम करना चाहिए। ■ सरसों, गेहू, इसबगुल, टमाटर, मिर्च की फसल में अच्छी बढवार के लिए सल्फर मैक्स 6 किलोग्राम और सेल्जिक 3 किलोग्राम तथा संचार 10 किलोग्राम प्रति एकड़ उपयोग करना चाहिए| ■ जीरे की फसल में पाले या कुहरे से बचाने के लिए सल्फर फास्ट फार्वड 4 से 6 किलोग्राम प्रति एकड़ के दर से डस्ट के रूप में प्रयोग करें। 👉जमीन में अच्छी और पर्यापत नमी होतो पानी नही देना चाहिए | जीरे की फसल को माहू, चर्मी से बचाके अच्छी बढवार के लिए अग्रोवर 35 एमएल + ड्रैगनेट 50 एमएल + स्टेलर 30 एमएल प्रति पंप छिड़काव करना चाहिए | 👉प्याज, लहसुन में थ्रिप्स और पत्ती धब्बा रोगको रोकने के लिए मंटो 7 ग्राम + एजेक्स 20 एमएल प्रति पंप छिड़काव करना चाहिए | 🌱स्त्रोत:- Agrostar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
31
8
अन्य लेख