मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना!
समाचारAgrostar
मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना!
💡राजस्थान में किसान बड़े पैमाने पर सिंचाई के लिए बिजली का इस्तेमाल करते हैं. ऐसे में सरकार भी उनकी मदद के लिए आगे आई है. किसानों के आर्थिक सशक्तिकरण की दिशा में बड़ा कदम उठाते हुए मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना लागू की है. राज्य सरकार का दावा है कि इस योजना से प्रदेश के लगभग 7 लाख 50 हजार किसानों का बिजली बिल शून्य हो गया है. यानि इन किसानों को मुफ्त बिजली मिल रही है. राज्य सरकार ने 17 जुलाई, 2021 को इस योजना की शुरूआत की और इसका लाभ बिलिंग माह मई, 2021 से दिया गया। 💡ऊर्जा राज्य का कहना है कि मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना किसानों की आय बढ़ाने और उन्हें बिजली के खर्च से चिंता मुक्त करने की ओर एक बड़ी पहल है. उन्होंने बताया कि योजना का लाभ सामान्य श्रेणी ग्रामीण मीटर एवं फ्लैट रेट श्रेणी के सभी कृषि उपभोक्ताओं को दिया जा रहा है। सालाना 12 हजार रुपये का फायदा - 💡मंत्री ने बताया कि योजना के तहत कृषि उपभोक्ताओं को कृषि बिजली बिल में प्रतिमाह एक हजार रुपए और अधिकतम 12 हजार रुपए प्रति वर्ष का अतिरिक्त अनुदान दिया जा रहा है. यह अनुदान बिजली बिल में समायोजन के माध्यम से दिया जा रहा है. किसी माह में बिल राशि एक हजार रुपये से कम होने पर अनुदान की शेष राशि का लाभ उसी वित्तीय वर्ष के आगामी माह में समायोजित किया जा रहा है, ताकि छूट का पूरा लाभ किसान को मिले. सरकार की इस योजना से प्रदेश में लघु एवं मध्यम वर्ग के किसानों के लिए कृषि बिजली लगभग फ्री हो गया है। कितना मिला फायदा- 💡ऊर्जा विभाग के प्रमुख शासन ने बताया कि योजना में अगस्त 2022 तक प्रदेश के लगभग 12 लाख 75 हजार कृषि उपभोक्ताओं को 1324 करोड़ 47 लाख रुपये से अधिक का अतिरिक्त अनुदान बिजली बिलों में प्रदान किया जा चुका है. इस अवधि के दौरान लगभग 7 लाख 48 हजार 899 कृषि उपभोक्ताओं को शून्य राशि के बिजली बिल जारी हुए हैं. इस योजना के माध्यम से ग्रामीण कृषि उपभोक्ताओं को बड़ी राहत मिल रही है। क्या कहते हैं किसान - 💡दौसा जिले के किसान कमलेश शर्मा का कहना है कि मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना शुरू होने से पहले उन्हें सालभर में कृषि बिजली के लिए 10 से 12 हजार रुपये चुकाने पड़ते थे. लेकिन जब से योजना शुरू हुई है तब से उनका बिजली बिल जीरो हो गया है. इस पैसे के उपयोग वे कृषि से जुड़ी दूसरी गतिविधियों में कर पा रहे हैं. सरकार ने इस योजना से किसानों को बहुत बड़ी राहत दी है। 💡डूंगरपुर जिले के किसान शंकर का कहना है कि उनका प्रतिमाह कृषि बिजली बिल एक हजार रुपये तक आता था, लेकिन किसान मित्र ऊर्जा योजना में एक हजार रुपये की सब्सिडी मिलने के कारण उनका कृषि बिजली बिल अब शून्य आता है. इससे खेती करना आसान हुआ है. हर माह बिजली के बिल को जमा कराने से मुक्ति मिली है। 👉स्त्रोत:-Agrostar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
17
2
अन्य लेख