योजना और सब्सिडीTV9 Hindi
मिल रहा 3 लाख रुपये की सहायता पाने का मौका इस योजना में!
👉🏻केंद्र सरकार और तमाम राज्य सरकारें किसानों के लिए कई तरह की योजनाएं चला रही हैं. कोशिश है कि किसानों की आय में बढ़ोतरी हो और वे खेती कर के ही एक बेहतर जीवन जी सकें. इसी को ध्यान में रखकर मत्स्य पालन करने वालों के लिए केंद्र सरकार की एक खास योजना प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना (PMMSY) चलाई जा रही है। 👉🏻मछली पालन अब एक ऐसा क्षेत्र है, जिसमें अपार संभावनाएं हैं. यहीं कारण है कि सरकार मछली पालन को प्रोत्साहित कर रही है. भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मछली पालक और चौथा सबसे बड़ा मछली निर्यातक देश है. भारत में काफी संख्या में लोग मछली पालन के काम से जुड़े हुए हैं. इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने मछली पालन के विकास के लिए बड़ी कवायद करते हुए मत्स्य संपदा योजना की शुरुआत की है। 2024-25 तक लागू रहेगी योजना:- 👉🏻प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की अनुमानित लागत 20,050 करोड़ रुपए है. इस योजना से मछली पालन के क्षेत्र से जुड़े मछुआरो, मछली पालकों, मछली श्रमिकों, मछली विक्रेताओं और अन्य हितधारकों को फायदा हो रहा है। 👉🏻इस योजना का उदेश्य नीली क्रांति के जरिए देश में मछली पालन क्षेत्र के सतत और जवाबदेह विकास को सनिश्चित करना है. प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना पूरे 5 साल के लिए लागू की गई है. वित्त वर्ष 2020-21 से लेकर 2024-25 तक लागू रहेगी। 👉🏻इस योजना से मछली पालन क्षेत्र की गंभीर कमियों को दूर करते हुए उसकी क्षमताओं को भरपूर इस्तेमाल किया जा सकेगा. साथ ही, मछली पालन क्षेत्र में 9 प्रतिशत सालाना दर से वृद्धि के साथ 2024-25 तक 22 मिलियन मीट्रिक टन उत्पादन का लक्ष्य हासिल किया जा सकेगा। रोजगार और आय के बेहतर अवसर उपलब्ध होंगे:- 👉🏻इस योजना के जरिए मछली पालन के लिए गुणवत्ता युक्त बीज हासिल करने और मछली पालन के लिए बेहतर जलीय प्रबंधन को भी बढ़ावा मिलेगा. इसके लिए जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर और मजबूत वैल्यू चेन विकसित की जा सकेगी। 👉🏻योजना के जरिए शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में मछली पालन से सीधे या परोक्ष रूप से जुड़े हुए सभी लोगों के लिए रोजगार एवं आय के बेहतर अवसर उपलब्ध हो सकेंगे. मछली पालन क्षेत्र में निवेश को बढ़ावा देने में भी मदद मिलेगी, जिससे मछली उत्पादक बाजार में और अधिक प्रतिस्पर्धी बन सकेंगे. इसके साथ ही साल 2024 तक मछली पालन से जुड़े किसानों की आय दोगुनी करने में भी मदद मिलेगी। कौन ले सकता है इस योजना का लाभ? 👉🏻PMMSY के अंतर्गत सरकार 3 लाख रुपए का लोन देती है. इसका लाभ मछली पालक, मछली श्रमिक और मछली विक्रेता, मत्स्य विकास निगम, स्वंय सहायता समूह, मछली पालन क्षेत्र, मत्स्य सहकारी समितियां, मत्स्य पालन संघ, उद्यमी और निजी फर्म और मछली किसान उत्पादक संगठन ले सकते हैं। योजना का लाभ लेने के लिए जरूरी दस्तावेज:- 👉🏻इस योजना का लाभ लेने के लिए जरूरी दस्तावेज आधार कार्ड, मछली पालन कार्ड, निवास प्रमाण पत्र, संपर्क नंबर, बैंक अकाउंट डिटेल्स और आवेदक का जाति प्रमाण पत्र है. इन दस्तावेजों के साथ पीएमएमएसवाई में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपके इसके ऑफिशियल वेबसाइट pmmsy.dof.gov.in पर जाना होगा। स्त्रोत- TV 9 Hindi, 👉🏻किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
6
0
अन्य लेख