AgroStar
मिट्टी की जांच क्यों है जरूरी!
कृषि वार्ताAgrostar
मिट्टी की जांच क्यों है जरूरी!
👉नमस्कार किसान मित्रों आज हम जानेंगे अपने खेत की मिट्टी जाँच करना को जरूरीआता है, 👉फसल की गुणवत्ता और उत्पादकता में सुधार के लिए समय-समय पर मिट्टी की जाँच जरुर करनी चाहिए . ऐसे करने से मिटटी में पाए जाने वाले पोषक तत्व पौधों को सही मात्रा में प्राप्त होते हैं साथ ही किसानों को अपनी फसल से मुनाफा भी अच्छा मिलता है, इसलिए मिटटी की जाँच आवश्यक है.इसके लिए मिट्टी का स्वस्थ्य रहना बहुत जरूरी है। पौधे के विकास के लिए कुल 17 पोषक तत्वों की जरूरत होती है। अधिक पैदावार व लाभ लेने के लिए उर्वरको का संतुलित मात्रा में प्रयोग आवश्यक है। मिटटी की जाँच के लिए सैम्पल तैयार करने की प्रकिया:- 👉सबसे पहले मिट्टी की जाँच के लिए लिया गया सैपल तब लेना चाहिए, जब फसल की बुवाई आप एक महीने बाद करने वाले हों. जिस खेत की मिट्टी की जाँच करने जा रहे हैं, उस खेत की सतह पर किसी भी प्रकार की घास – फूस आदि नहीं होनी चाहिए. 🔅मिट्टी का सैम्पल लेने के लिए खुरपी की सहायता से करीब 15 सेमी गहरा गड्ढा खोदें 🔅इसके बाद एक ऊंगली की मोटाई तक का ऊपर से नीचे तक का सैम्पल काट लें. 🔅इसके बाद जिस जगह की जाँच करनी है, उन जगहों के सैपल्स तैयार कर लें. 🔅इसके बाद अब सभी मिट्टी के सैम्पल्स का मिश्रण तैयार कर लें. 🔅तैयार करने बाद इनको 4 भागों में बाट लें. 🔅इन चार भागों में से 2 भाग हटा दें, बाकी बचे हुए भाग को फिर से मिलाकर 4 भाग कर लें व 2 भाग फेंक दें. 🔅इस तरह की प्रक्रिया तब तक दोहराएँ जब तक आपके पास 500 ग्राम मिट्टी न रह जाये. 🔅अब इस सैम्पल को साफ़ थैली में डाल दें. 🔅इस तरह आपका सैपल्स तैयार हो जायेगा. 🔅मिटटी की जाँच हेतु कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना होगा :- 🔅सबसे पहले जिस खेत की मिटटी की जाँच करनी हो, उस खेत की सतह ऊंची नीची नहीं होनी चाहिए. 🔅इसके अलावा मेढ़, पानी की नाली व कम्पोस्ट के ढेर के नजदीक की जगहों का सैम्पल नहीं लेना चाहिए. 🔅खेत में जिस जगह में पेड़ की जड़ हो, उस जगह के पास से सैम्पल न लें. 🔅मिट्टी का सैम्पल हमेशा साफ़ थैली में रखें. किसी खाद की थैली का इस्तेमाल न करें. 🔅इसके अलावा खड़ी फसल से भी सैम्पल ना लें. स्रोत:-Agrostar 👉किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
7
2
अन्य लेख