AgroStar
मध्यप्रदेश के किसानों को मिली क्लेम राशि!
कृषि वार्ताtv9
मध्यप्रदेश के किसानों को मिली क्लेम राशि!
💸 मध्य प्रदेश के गांवों में इन दिनों किसान जश्न मना रहे हैं. उत्सव में डूबे हुए हैं. किसानों के चेहरे खिले हुए हैं और गांवों में मिठाई बांट रहे हैं. सभी किसान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह, केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल को धन्यवाद देकर खुशियां मना रहे हैं. दरअसल गांव के किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत उन्हें मिली बीमा राशि मिली है. इस खुशी में किसान उत्सव मना रहे हैं. गांव के किसानों को उनका हक दिलाने में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और कृषि मंत्री कमल पटेल की जोड़ी ने मेहनत की है। 💸 गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में किसानों के ऊपर कोई भी संकट आता है तो मुख्यमंत्री शिवराज और कृषि मंत्री कमल पटेल की जोड़ी संकटमोचक की भूमिका में किसानों की मदद करने के लिए पहुंच जाते हैं. मुख्यमंत्री शिवराज की सोच के साथ किसान नेता एवं कृषि मंत्री कमल पटेल के अथक प्रयास और खेत में ऑन द स्पॉट मौका- मुआयना करना प्रमुख कारण है. मध्यप्रदेश में किसान खेत में नहीं पहुंच पाता है लेकिन मंत्री कमल पटेल एक दिन में पांच- पांच जिलों की खेतों में खड़ी फसल के नुकसान का आकलन करने खेत में पहुंच जाते हैं। 💸 फसल बीमा से जुड़े बन ग्राम - 👉इस बात को लेकर कृषि मंत्री कमल पटेल बताते हैं कि मध्यप्रदेश में पीएम मोदी के सपने को पूरा करने के लिए हर स्तर पर कार्य किया जा रहा है. पीएम मोदी का सपना है कि कृषि को लाभ का उद्योग बनाना है. इसलिए राज्य सरकार इस लक्ष्य के साथ कार्य कर रही है. मुख्यमंत्री कई बार अपने कार्यों से और भाषणों के जरिए यह बता चुके हैं कि उनकी सरकार किसानों के हित के लिए कार्य करती है. उन्होंने कहा कि मध्यपदेश एकमात्र ऐसा राज्य है जहां रविवार के दिन भी बैंक खुले और डिफाल्टर, अऋणी, वन ग्राम के किसानों की फसलों का बीमा करवाया गया. पहले वन ग्रामों मे प्राकृतिक आपदा से फसल का नुकसान होता था तो फसल बीमा का फायदा नहीं मिलता था लेकिन देश के इतिहास में पहली बार मध्य प्रदेश मे वन ग्रामों को फसल बीमा से जोड़ा गया. जिसका फायदा वन ग्राम में रहने वाले छोटे किसानों को पहली बार पहुंचा है। 💸किसानों के दर्द को समझता हूंः कमल पटेल - 👉दूसरी ओर हमने प्रदेश के किसानों के लिए ऐतिहासिक फैसला लिया है जिसके तहत किसान के खाते में न्यूनतम 1000 बीमा राशि सरकार द्वारा दी जाएगी. इस बार 547184 रुपए की बीमा राशि किसान के खाते में ट्रांसफर की गई है. ईमानदारी से सर्वे के कारण किसानों को लाभ मिला है. उन्होंने कहा कि मेरे कृषि मंत्री बनते से ही मैंने किसानों की चिंता की है. उनकी किसी भी आपदा में हम उनके खेत तक पहुंचे हैं. किसान होने के नाते मैं किसानों का दर्द समझता हूं। 💸 सर्वाधिक क्लेम देने वाला राज्य बना मध्य प्रदेश - 👉पिछले कुछ वर्षों में प्राकृतिक आपदा के कारण प्रदशे के 52 जिलों के किसानों की फसलों को काफी नुकसान हुआ था. कई किसानों के पास खेती करने के लिए पूंजी तक नहीं थी, ऐसे में किसानों की इस गंभीर परिस्थिति में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ने किसानों के लिए संजीवनी बूटी का कार्य किया है. केंद्र की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार और प्रदेश में शिवराज की डबल इंजन सरकार ने बीते शनिवार को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत बैतूल जिला मुख्यालय पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान , किसान नेता एवं प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल की मौजूदगी में एक क्लिक से प्रदेश के 49 लाख 85 हज़ार 24 किसानों के खाते में 7 हजार 618 करोड़ 8 लाख 52 हज़ार 22रुपये फसल बीमा की क्षतिपूर्ति का भुगतान किया वही इसके साथ मध्य प्रदेश देश में किसानों को सर्वाधिक बीमा क्लेम देने वाला राज्य भी बन गया. मध्यप्रदेश में डबल इंजन सरकार ने 22 महीनों के कार्यकाल में 95 लाख से अधिक किसानों के खाते में 16 हजार 594 करोड़ रुपए से अधिक की राशि पहुंचाई है। स्त्रोत:- tv9 , 👉 प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
21
2
अन्य लेख