बिज़नेस आईडियाPaisa Bazaar
भारत में प्रसिद्ध छोटे व्यवसाय !
👉क्या आप अपना खुद का बिज़नेस (Business) शुरू करना चाहते हैं? इसे अभी शुरू करें। आप कैसे व्यवसाय शुरू करें और किस तरह का बिज़नेस शुरू करें इसके बारे में ज़्यादा ना सोचें। हर बिज़नेस के अपने फायदे और नुकसान होते हैं। व्यवसाय की सफ़लता आपके जुनून, समर्पण और धैर्य पर भी निर्भर करती है। लक्ष्य प्राप्त करने में आपका टैलंट भी बहुत मायने रखता है। आज कुछ ऐसे ही सफ़ल स्मॉल बिज़नेस के बारे में चर्चा करते हैं जिन्हें शुरू करने के लिए कम पैसे और ज़्यादा लगन की ज़रूरत है और जो अभी तक लोगों के लिए लाभदायक ही साबित हुए हैं। भारत में सबसे सफल स्मॉल बिज़नेस:- 1. ब्रेकफास्ट ज्वाइंट (Breakfast Joint) जीवन की तीन बुनियादी आवश्यकताओं में से एक खानपान, व्यवसाय के लिए एक बेहतर विकल्प है। इसलिए, छोटे पैमाने पर बिज़नेस शुरू करने के लिए ब्रेकफास्ट ज्वाइंट एक अच्छा व्यवसाय है। 👉इस बिज़नेस में जब तक अच्छा भोजन परोसा जाएगा तब तक आपके पास ग्राहकों की कमी कभी नहीं होगी, बेशक, एक स्टार्ट-अप बिज़नेस के लिए आपके पास बहुँत से खाने के विकल्प या बड़ी मेन्यू-लिस्ट होने की आवश्यकता नहीं है। शुरुआत केवल खाने के कुछ विकल्पों के साथ की जा सकती है, जैसे कि एक पारंपरिक नाश्ता जिसके साथ स्नैक्स भी रखे जा सकते है। 2. जूस पॉइंट / शेक्स काउंटर (Juice Point):- 👉जैसे-जैसे लोग स्वास्थ्य के प्रति जागरुक हो रहे हैं, वैसे-वैसे सॉफ्ट ड्रिंक्स के विकल्प के रूप में ताज़ा जूस एक लोकप्रिय स्वस्थ कोल्ड ड्रिंक के तौर पर उभर रहे हैं। यही कारण है कि जूस पॉइंट जैसे व्यवसायों ने भारत में सफ़ल स्मॉल बिज़नेस के रूप में में जगह बनाई है। 3. सिलाई / कढ़ाई (Tailoring/ Embroidery):- 👉ये एक और प्रमुख बिज़नेस है जो जीवन की मूलभूत ज़रुरतो से संबंधित है क्योंकि कपड़े सभी की आवश्यकता हैं। सिलाई और कढ़ाई का व्यवसाय एक स्टार्ट-अप बिज़नेस के रूप में दशकों से चलता आ रहा है। आमतौर पर यह बिज़नेस घरों में ही खोल लिया जाता है, और ये लोग बुटीक की ओर से ऑर्डर प्राप्त करते हैं और पूरा करते हैं। क्योंकि ये एक आज़माया हुआ व्यवसाय है, इसलिए इसे बड़े स्तर पर भी करने में ज़्यादा जोखिम नहीं है। विशेष रूप से बड़े शहरों में, जहां सिलाई –कढ़ाई की बहुत मांग है। 4.सैलून (Salon):- 👉सैलून (Salon) खोलना मेट्रो शहरों में सबसे अधिक ट्रेंडिंग बिज़नेस विकल्प है। युवा प्रेज़ेंटेबल दिखने में ज़्यादा रुचि रखते हैं। इसलिए, लगभग हर सैलून में स्थान के आधार पर ग्राहकों की अच्छी संख्या होती है। सैलून मालिक त्यौहारों या शादी के मौसम के दौरान भारी मुनाफा कमाते हैं। 5.कैटरिंग (Catering):- 👉कैटरिंग व्यवसाय (Catering Business) के काम के लिए लेबर, कच्चे माल की खरीद, और टेंट, टेबल, कुर्सियाँ और बर्तनों के मालिक होने की आवश्यकता होती है। बाकी आपके संपर्कों, मार्केटिंग तकनीकों और तैयार और परोसे जाने वाले भोजन की गुणवत्ता पर निर्भर करता है। स्रोत:- Paisa Bazaar, 👉 प्रिय किसान भाइयों दी गई उपयोगी जानकारी को लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
58
1
अन्य लेख