क्षमाा करें, यह लेख आपके द्वारा चुनी हुई भाषा में नहीं है।
Agri Shop will be soon available in your state.
एग्री डॉक्टर सलाहकिसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग मध्यप्रदेश
बाजरा में सिट्टा खाने वाली इल्ली का नियंत्रण!
किसान भाइयों, यह सुंडी बाजरा की फसल में सिट्टे के बीज को नुकसान करती हैं। यह सुंडी बाजरा की डंठलों काटकर छेद करके फूलों को खाती है। इससे सिट्टे में दाने नहीं बन पाते है। इस तरह की सुंडी के नियंत्रण प्रारंभिक अवस्था मे कीट प्रभावित पौधो को उखाड कर नष्ट कर देना चाहिए। NSKE (नीमशत)/5% का छिडकाव कम से कम 2 बार करना जिससे कीटों की संख्या कम हो सके। निमोटोड नियंत्रण हेतु नीम खली/200 कि.ग्रा. प्रति हेक्टेयर प्रयोग करे। तनाछेदक मक्खी के अधिक प्रकोप होने पर इसके नियंत्रण हेतु कार्बोफ्यूरॉन3 जी./8-10 कि.ग्रा. प्रति हेक्टेयर अथवा मोनोकोटोफॉस 30 एस.एल.की 750 एम.एल. मात्रा 600 लीटर पानी मे मिलाकर छिडकाव करें।
स्रोत:- किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग मध्यप्रदेश यदि आपको आज के सुझाव में दी गई जानकारी उपयोगी लगे, तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
19
2
संबंधित लेख