सलाहकार लेखडी डी किसान
बागवानी फसलों में पाए जाने वाले मृदा जन्य रोग का नियंत्रण
आम, पपीता और अमरुद केला जैसे बगीचे में फफूंद रोगों के कारण उकटा रोग का प्रकोप होता है। प्रारंभिक अवस्था में, पेड़ की शाखाएं पीली हो जाती हैं और फिर सूख जाती हैं। इससे उत्पादन कम होता है और किसानों को वित्तीय नुकसान होता है। इस रोग के नियंत्रण के लिए, कॉपर ऑक्सीक्लोराइड के लेप को कटे हुए शाखाओं के ऊपर लगा देना चाहिए और थायोफिनेट मिथाइल 1 ग्राम प्रति लीटर पानी के साथ मिलाकर छिड़काव करना चाहिए।_x000D_ _x000D_ स्रोत- डीडी किसान_x000D_ यह वीडियो आपको महत्वपूर्ण लगे तो लाइक करें और जरूर शेयर करें।_x000D_
152
0
अन्य लेख