गुरु ज्ञानAgrostar India
फफूंद से होने वाले रोगों एवं उनका नियंत्रण!
👉किसान मित्रों फसलों में फफूंद जनित बीमारी एक आम समस्या है पर क्या आप जानते है की इनका निवारण कैसे करें या ये दिखते कैसे है तो - फफूद से होने वाली बीमारियाँ दो प्रकार की होती हैं 1) ऊपरी पौधों पर दिखने वाला प्रकोप -पत्तियों में धब्बे पड़ना ,पाउडरी मिल्डू ,झुलसा,डाउनी मिल्डू आदि रोग देखने को मिलते है जिनको शुरुआती अवस्था से कंट्रोल करने के लिए- मन्डोज़ 35 ग्राम 15 लीटर पानी में मिला कर छिड़काव करें या 500 ग्राम प्रति एकड़ की दर से खाद के साथ मिला कर प्रयोग करें। उदहारण - आलू ,मिर्च ,मक्का,मूंगफली। 2) जमीन के अंदर होने वाले प्रकोप -जड़ गलन ,तना सडन जिनको शुरुआती अवस्था से कंट्रोल करने के लिए मेटल ग्रो 35 ग्राम 15 लीटर पानी में मिला कर छिड़काव करें उदहारण- आलू , सरसो। • ध्यान देने वाली बात - कभी-कभी इन बिमारियों का कारण बदलता मौसम, उच्य अद्रता, अथवा नामी की वजह से फफूंद का फैलाव देखा जाता है। 👉स्त्रोत:-Agrostar India किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
12
1
अन्य लेख