AgroStar
 प्रधान मंत्री सोलर योजना में किया बड़ा बदलाव!
समाचारAgrostar
प्रधान मंत्री सोलर योजना में किया बड़ा बदलाव!
👉नमस्कार किसान मित्रों आज हम बात करेंगे सोलर प्लांट लगाकर आप मासिक कमाई भी कर सकते हैं। इसके लिए बड़ा सोलर पैनल लगाना होगा। ऑन ग्रिड सोलर प्लांट में यह सुविधा दी जा रही है। ऑन ग्रिड में आपको प्रति यूनिट सरकार खुद पैसा देती है। जैसे सोलर प्लांट ने बनाई 500 यूनिट बिजली और घर में खर्च हुई 200 यूनिट बिजली, सरकार आपको 300 यूनिट बिजली का भुगतान खुद करेगी। फ्री सोलर प्लांट के लिए एक से बढ़कर एक स्कीम है। सरकार द्वारा 90 प्रतिशत सब्सिडी का भी प्लान दिया गया है। पानी का पंप चलाने के लिए सरकार सिमित मात्रा में फ्री सोलर प्लांट लगवा रही है। 👉उदाहरण के लिए मान लीजिए कि आपको अपने घर में 1 टन के 2 इन्वर्टर एयर कंडीशनर चलाने हैं, साथ में कूलर, पंखे और लाइट चलानी है तो आपको न्यूनतम 4 किलोवॉट का सोलर सिस्टम लगाना होगा जो प्रतिदिन कम से कम 20 यूनिट बिजली पैदा कर सकें। एक 4 किलोवॉट के सोलर प्लांट में आप 2 एयरकंडीशनर के साथ-साथ घर के अन्य सभी इक्विपमेंट्स जैसे पंखे, कूलर, लैपटॉप, लाइट्स आदि चलाते हैं। सोलर प्लांट के लिए आवश्यक सामान:-- 👉किसी भी सोलर प्लांट के लिए सबसे आवश्यक सामग्री एक सोलर इन्वर्टर, सोलर बैटरी, सोलर पैनल होते हैं। इसके बाद वायर फिक्सिंग, स्टैंड आदि का खर्चा होता है जिस पर अतिरिक्त पैसा देना होता है। इस तरह इन सभी चीजों को मिलाकर हम खर्चा निकाल सकते हैं। सोलर इन्वर्टर:- 👉वर्तमान में मार्केट में 5 किलोवाट के सोलर इन्वर्टर मिलते हैं जिन्हें 4 किलोवॉट का प्लांट चलाने के लिए आप खरीद सकते हैं। हालांकि यह थोड़ा सा महंगा पड़ता है। यदि आपका बजट कम है तो आपको पीडब्ल्यूएम तकनीक वाला सोलर इन्वर्टर लेना चाहिए। सोलर बैटरी:- 👉सोलर बैटरी के आकार पर ही उसकी लागत निर्भर करती है। यदि आप 4 बैटरी इन्वर्टर लेंगे तो वह सस्ता आएगा परन्तु यदि आप 8 बैटरी वाला इन्वर्ट लेंगे तो वह दुगुनी कीमत में आएगा। एक मोटे अंदाजे के अनुसार एक बैटरी आपको लगभग 15,000 रुपए की पड़ती है। सोलर पैनल्स:- 👉मार्केट में अभी तीन तरह के सोलर पैनल मिलते हैं, जिनकी कीमत अलग हैं। इन तीनों को पॉलीक्रिस्टेलीन, मोनो पर्क, और बाइफेसिएल कहा जाता है। यदि आपका बजट कम है और स्पेस ज्यादा है जो आपको पॉलीक्रिस्टेलीन सोलर पैनल का यूज करना चाहिए। परन्तु आपके पास स्पेस कम है तो आपको बाइफेसियल सोलर पैनल यूज करना चाहिए। सोलर प्लांट के प्रकार:- 👉कोई भी सोलर प्लांट तीन तरह का हो सकता है (1) ऑफ-ग्रिड – जो डायरेक्ट पॉवर सप्लाई करता है, (2) हाईब्रिड – जो ऑफ ग्रिड और ऑन ग्रिड दोनों का कॉम्बीनेशन होता है, (3) ऑन-ग्रिड – जो इलेक्ट्रिसिटी को सेव कर लेता है और आवश्यकता के वक्त काम ले सकते हैं।इस तरह यदि आप एक सोलर प्लांट सिस्टम बनाना चाहते हैं तो आपका टोटल खर्चा कुछ इस प्रकार होगा इसके लिए कैसे करें आवेदन:- आप इसके लिए सरकार की आधिकारिक वेबसाइट mnre.gov.in को विजिट करके जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। सोलर प्लांट लगाने वाली कंपनियां भी इस संबंध में आपको काफी जानकारी उपलब्ध करवा सकती हैं। आप चाहे तो सरकार के 👉नमस्कार किसान भाइयों प्रिय किसान मित्रों आइये इस वीडियो में जानते है किस प्रकार अपनी मूंगफली की फसल में लगने वाले छोटे रस चूसक कीट से अपनी फसल को बचा सकते हैं, संपूर्ण जानकारी के लिए वीडियो को अंत तक पूरा देखें! 👉नमस्कार किसान भाइयों आज हम इस वीडियो के माध्यम से जानेंगे गन्ने की फसल में खर पतवार नियंत्रण के बारे में जानेंगे, इसकी सम्पूर्ण जानकारी के लिए वीडियो को अंत तक देखें। स्रोत :-- Agrostar 👉किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
26
1
अन्य लेख