AgroStar
प्रधान मंत्री आवास योजना में 3.61 लाख घर बनाने को मंजूरी!
समाचारTV9
प्रधान मंत्री आवास योजना में 3.61 लाख घर बनाने को मंजूरी!
👉🏻केंद्र ने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) (PMAY-U) के तहत 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 3.61 लाख घरों के निर्माण को मंजूरी दे दी है. मंजूरी के बाद योजना के तहत स्वीकृत घरों की कुल संख्या 1.14 करोड़ हो गई है. केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा की अध्यक्षता में केंद्रीय मंजूरी और निगरानी समिति (CSMC) ने मंजूरी दी. इस स्कीम के अंतर्गत पूरे देश में 7.52 लाख करोड़ रुपये खर्च होंगे. इसके साथ केंद्र की सहायता राशि 1.85 लाख करोड़ रुपये की है. अब तक केंद्र सरकार 1.13 लाख करोड़ रुपये खर्च चुकी है! 👉🏻आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय MoHUA ने PMAY मिशन के तहत घरों के निर्माण के संबंध में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से बातचीत की और इससे जुड़े मुद्दों को उठाया. मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को बिना देरी के मुद्दों को हल करने के लिए कहा ताकि घरों के निर्माण में तेजी लाई जा सके! क्या कहा सरकार ने - 👉🏻मंत्रालय ने कहा, “पीएमएवाई-यू (PMAY-U) के तहत बनने वाले घरों का निर्माण अलग-अलग चरणों में है. इसके साथ, मिशन के तहत स्वीकृत घरों की कुल संख्या अब 1.14 करोड़ हो गई है, जिनमें से 89 लाख से अधिक निर्माणाधीन हैं और 52.5 लाख को पूरा किया गया और लाभार्थियों को वितरित किया गया है.” ! कैसे करें अप्लाई - 👉🏻आप भी इस योजना में अप्लाई कर सकते हैं. अप्लाई करने के बाद आपको एक एप्लिकेशन रेफरेंस नंबर मिलेगा. इस नंबर की मदद से आप यह पता कर सकेंगे कि आपका नाम प्रधानमंत्री आवास योजना की नई लिस्ट 2021-22 में दर्ज है या नहीं. इस लिस्ट में उन लोगों के नाम होते हैं जिनकी एप्लिकेशन मंजूर कर ली गई है. अगर आप एलआईजी या ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो आपके परिवार में पति, पत्नी, अविवाहित बेटियां या अविवाहित बेटे होने चाहिए. परिवार की वार्षिक आय 3 लाख से 6 लाख रुपये के अंदर होनी चाहिए. प्रॉपर्टी का सह-मालिकाना हक परिवार की महिला सदस्य के पास होना चाहिए! 👉🏻अगर आप एमआईजी1 और एमआईजी2 कैटेगरी के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो एमआईजी1 के लिए परिवार की वार्षिक आय 6 लाख रुपये से 12 लाख के बीच और एमआईजी2 के लिए 12 लाख से 18 लाख के बीच होनी चाहिए. प्रॉपर्टी का सह-स्वामित्व महिला सदस्य के नाम जरूर होना चाहिए. कमाई करने वाले व्यक्ति को एक अलग परिवार के रूप में माना जाएगा. एमआईजी1 के तहत पात्र उम्मीदवार 4 फीसदी की सब्सिडी पा सकते हैं, जबकि एमआईजी2 के अंतर्गत पात्र उम्मीदवार 3 परसेंट की सब्सिडी पाने के हकदार हैं! स्त्रोत:- TV9 👉🏻प्रिय किसान भाइयों दी गई उपयोगी जानकारी को लाइक👍🏻करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
24
3
अन्य लेख