AgroStar
पशुपालकों को भी मिलेगा KCC से 1.60 लाख का गारंटी फ्री लोन!
कृषि वार्ताAgrostar
पशुपालकों को भी मिलेगा KCC से 1.60 लाख का गारंटी फ्री लोन!
🌾नमस्कार किसान भाइयों स्वागत है आप का एग्रोस्टार के कृषि लेख में किसान भाइयों, किसान क्रेडिट कार्ड का फायदा उठाने में किसानों के मुकाबले बहुत पीछे हैं पशुपालक और मछुआरे. देश भर में 22 जुलाई तक इनके लिए बनाए गए सिर्फ 3,33,164 केसीसी. जानिए केसीसी के तहत पैसा लेने पर कितना देना होता है ब्याज. 🌾केंद्र सरकार किसानों, पशुपालकों और मछुआरों को साहूकारों के चंगुल से मुक्त करने के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों तक किसान क्रेडिट कार्ड यानी केसीसी पहुंचाने की कोशिश में जुटी हुई है. लेकिन, जब वो बैंक में इसे बनवाने के लिए पहुंचते हैं तो उनसे गारंटी के तौर पर जमीन के कागजात मांगे जाते हैं. इसलिए कोलेक्ट्रल फ्री (रेहन मुक्त) लोन के लिए अप्लाई करिए. अगर आप केसीसी के तहत सिर्फ 1.6 लाख रुपये का लोन लेने के लिए अप्लाई करेंगे तो गारंटी की जरूरत नहीं होगी. यह सुविधा मछुआरों और पशुपालकों को भी दे दी गई है. 🌾वित्त मंत्रालय ने 24 सितंबर 2021 को जारी एक दिशा निर्देश में बताया था कि 1.6 लाख रुपये तक का कोलेक्ट्रल फ्री केसीसी लोन मछुआरों सहित सभी कार्ड धारकों द्वारा लिया जा सकता है. यह सुविधा पशुओं, पक्षियों, मछली, झींगा, जलीय जीवों को पालने और मछली पकड़ने के लिए लघु अवधि लोन की जरूरतों को पूरा करेगी. केसीसी की सुविधा पहले सिर्फ खेती करने वालों को मिलती थी और उनकी कोलेक्ट्रेल फ्री लिमिट सिर्फ 1 लाख रुपये थी. पहले इसे किसानों के लिए बढ़ाकर 1.60 लाख रुपये की गई. उसके बाद पशुपालकों और मछुआरों के लिए भी इसे लागू किया गया. 🌾कितने पशुपालकों और मछुआरों को मिला लाभ:- केसीसी का लाभ लेने में किसानों के मुकाबले पशुपालक और मछुआरे काफी पीछे हैं. इसके पीछे जागरूकता का अभाव और बैंकों के नखरे प्रमुख वजह हैं. केंद्र सरकार की सख्ती के बावजूद बैंकों का माइंडसेट कृषि, पशुपालन और मछलीपालन के लिए लोन देने का नहीं है. बैंकों में फैले भ्रष्टाचार की वजह से भी कुछ लोग बाहर से पैसा लेना पसंद करते हैं. 🌾सच तो यह है कि ज्यादातर केसीसी बनवाने में बैंक वाले अवैध तरीके से पैसा वसूलते हैं. केंद्र सरकार ने आदेश दिए हैं कि आवेदन पूर्ण होने के दो सप्ताह के भीतर केसीसी जारी करना पड़ेगा. लेकिन ऐसा होता नहीं. बैंक मैनेजरों की मनमानी कायम है. फिलहाल 22 जुलाई तक देश में 3,33,164 पशुपालकों और मछुआरों के किसान क्रेडिट कार्ड बनाए जा चुके हैं. 🌾केसीसी पर कितना लगता है ब्याज:- किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम के तहत 3 लाख रुपये तक के कृषि कर्ज की ब्याज दर आमतौर पर 9 फीसदी होती है. लेकिन, केंद्र सरकार इसमें 2 फीसदी छूट देती है. यदि आप लोन का पैसा समय पर लौटा देंगे तो 3 परसेंट की छूट और मिल जाएगी. इस तरह सिर्फ 4 परसेंट ब्याज देना होगा. यह सबसे सस्ता लोन है. इसलिए खेती-किसानी, पशुपालन और मछलीपालन के काम के लिए किसी साहूकार से पैसा लेने की बजाय केसीसी का लाभ उठाना ज्यादा फायदे का सौदा है. 🌾स्रोत:- Agrostar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
21
5
अन्य लेख