क्षमाा करें, यह लेख आपके द्वारा चुनी हुई भाषा में नहीं है।
Agri Shop will be soon available in your state.
कृषि वार्ताद इकोनॉमिक टाइम्स
नाबार्ड ने कृषि ऋणों की गारंटी के लिए सहायक कंपनी की शुरूआत की!
👉🏻 कृषि ऋणदाता नाबार्ड ने कृषि और ग्रामीण विकास के तहत ऋणों की गारंटी के लिए एक सहायक की स्थापना का प्रस्ताव किया है। 👉🏻 इसके मद्देनजर, प्रधानमंत्री के आत्मानिभर भारत कार्यक्रम ’के हिस्से के रूप में घोषित पशुपालन अवसंरचना और विकास निधि (CIDAHI) योजना के तहत ऋणों को वित्त ऋण और एफपीओ की गारंटी दी जाएगी। एफपीओ के लिए केंद्र सरकार की योजना के हिस्से के रूप में। 👉🏻 सितंबर में, NABARD की ऋण पुस्तिका में 20 प्रतिशत की वृद्धि हुई। अप्रैल से सितंबर 2020 तक की महामारी के दौरान, 91,698 करोड़ रुपये आवंटित किए गए थे और वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी छमाही में, यह 6 लाख करोड़ रुपये से अधिक होने की उम्मीद है। 👉🏻 COVID-19 महामारी रोगों के माध्यम से कृषि क्षेत्र में तरलता की सुविधा के लिए, विशेष तरलता सुविधा के तहत नाबार्ड को 25,050 करोड़ रुपये दिए गए थे। 👉🏻 इस सुविधा के तहत, एनबीएफसी-एमएफआई को 2,000 करोड़ रुपये, आरआरबी को 6,700 करोड़ रुपये और 16 करोड़ रुपये, सहकारी बैंकों और राज्य सहकारी बैंकों को 350 करोड़ रुपये दिए गए हैं। स्रोत:- द इकोनॉमिक टाइम्स, प्रिय किसान भाइयों यदि आपको दी गयी जानकारी उपयोगी लगी तो इसे लाइक👍करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ जरूर शेयर करें धन्यवाद। 👉🏻 खेती तथा खेती सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए कृषि ज्ञान को फॉलो करें। फॉलो करने के लिए अभी क्लिक करें।
47
4
संबंधित लेख