क्षमाा करें, यह लेख आपके द्वारा चुनी हुई भाषा में नहीं है।
Agri Shop will be soon available in your state.
कृषि वार्ताएग्रोवन
देश में 45 लाख हेक्टेयर में अरहर की खेती
नई दिल्ली। देश में खरीफ की खेती पूरी हो गई है। इस साल अनाज की बुआई में दो फीसदी की गिरावट आई है। हालांकि, खरीफ अनाज में एक महत्वपूर्ण फसल अरहर की खेती थोड़ी बढ़ी है। इस वर्ष केंद्रीय कृषि मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, देश में 45.8 लाख हेक्टेयर में अरहर की बुआई की गई है।
देश में मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र अरहर के प्रमुख उत्पादक राज्य हैं। हालांकि, बारिश की कमी की वजह से इस साल इन राज्यों में अरहर की खेती कम हुई है। मानसून के देर से आगमन और भारी वर्षा की कमी ने इसकी खेती को कम कर दिया है। शुरू में बुवाई के अनुकूल बारिश नहीं हुई और जब बारिश हुई तो खेती का समय खत्म हो गया था। इससे दोनों राज्यों में अरहर की खेती का क्षेत्रफल कम हो गया। महाराष्ट्र में, 2.2 प्रतिशत की कमी से अरहर की खेती 12.1 लाख हेक्टेयर में हुई है, जबकि मध्य प्रदेश में, 19 प्रतिशत की गिरावट आई है। इस साल, केवल 5 लाख 6 हजार हेक्टेयर में अरहर की खेती हुई है। संदर्भ - अग्रोवन, 2 अक्टूबर 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
141
0
संबंधित लेख