सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
देखिये, आपके क्षेत्र के अनुसार धान की अच्छी किस्में और उनकी विशषताएँ!
👉🏻किसान भाइयों आज के लेख में हम धान की उन्नत खेती के लिए कौन सी किस्म का चयन किस प्रकार करें जिससे की आपको अधिक से अधिक फायदा मिल सके। इस लेख के माध्यम से हम आपको उत्तरप्रदेश के क्षेत्रों के लिए धान की किस्म व उनकी विशेषताओं के बारे में बताएँगे। 1. धान्या - डी आर एच 748 (Dhanya -DRH 748 Paddy) 👉🏻अवधि - 135-135 दिन 👉🏻मध्यम लम्बा एवं मध्यम पतला दाना 👉🏻विस्तृत अनुकूलता 👉🏻अधिक उपजाऊ कल्ले, घनी लम्बी बालियाँ एवं अधिक दाने 👉🏻बी एल बी, तना सड़न (शीथ ब्लाईट), गाल मक्खी के प्रति सहनशील 2. कावेरी - केपी एच 468 (Kaveri-KPH 468 Paddy) 👉🏻पकने का अवधि 120-125 दिन 👉🏻पौधे की बढ़वार- सीधा 👉🏻पौधे की उचाई : 105-110 सेमी 👉🏻कल्ले प्रति पौधे- 8-12 👉🏻दाने प्रति बाली- 300-350 👉🏻दाने का प्रकार- लम्बा और मोटा 👉🏻दाने की लम्बाई- 6.80 मिमी० 👉🏻दाने की चौड़ाई- 2.36 मिमी० 👉🏻पैदावार- 32 – 38 क्विंटल प्रति एकड़ 👉🏻वजनदार दाना 👉🏻कम बदरापन (No chaffiness / very less chaffiness) 👉🏻रोपाई से पकने तक हरा पौधा 👉🏻नजदीक रोपाई में भी अच्छी और ज्यादा पैदावार 3. कावेरी केपी एच 9090 (Kaveri-KPH 9090 Paddy) 👉🏻पकने की अवधि : 130-135 दिन 👉🏻पौधे की बढ़वार - : सेमी इरेक्ट 👉🏻पौधे की उचाई : 110-115 सेमी 👉🏻फुटान प्रति पौधे : 15-20 👉🏻दाने प्रति बाली : 300-350 👉🏻दाने का प्रकार : लम्बा और मोटा 👉🏻दाने की लम्बाई - 6.65 मिमी०, दाने की चौड़ाई -2.15 मिमी० 👉🏻पैदावार : 35-40 क्विंटल प्रति एकड़ 4. सावनाह - श्रेष्ठा गोल्ड (Savannah-Shreshtha Gold Paddy) 👉🏻श्रेष्ठा गोल्ड मध्यम पक्वता की (130 - 135 दिन), गिरने के प्रति सहनशील किस्म है 👉🏻यह किस्म विभिन्न कृषि जलवायु क्षेत्रों में व्यापक रूप से अनुकूलनीय है 👉🏻अच्छे दाने की गुणवत्ता 👉🏻लम्बा और मोटा दाना और ज्यादा वजनदार 👉🏻प्रत्येक बाली में अधिक दाने और अधिक उत्पादक टिलर यानि कल्ले 5. युएस एग्रीसीड - युएस 312 (Seedworks US 312 Paddy) 👉🏻पकने की अवधि 120-125 दिन 👉🏻पौधे की उचाई - मध्यम - 105 सेमी 👉🏻मध्यम पतला दाना 👉🏻खाने में स्वादिष्ट 👉🏻अधिक उपज 👉🏻खड़े रहने की क्षमता 👉🏻ब्लास्ट रोग के प्रति सहनशील 👉🏻सूखे के प्रति सहनशील 👉🏻अधिक चावल की प्राप्ति 👉🏻पैदावार - 28 - 30 क्विंटल प्रति एकड़ 6.युएस एग्रीसीड - युएस 382 (Seedworks US 382 Paddy) 👉🏻पकने की अवधि - 128 -130 दिन 👉🏻पौधे की उचाई - 110 सेमी 👉🏻मध्यम बोल्ड, अधिक वजनदार दाना 👉🏻विपरीत परिस्थिति में भी खेत में खड़े रहने की क्षमता 👉🏻कम पानी में भी अधिक उपज 👉🏻ब्लास्ट रोग के प्रति सहनशील 👉🏻पैदावार - 28- 30 क्विंटल प्रति एकड़ 👉🏻भारत सरकार द्वाराअनुमोदित 7. युएस एग्रीसीड- युएस 362 (Seedworks US 362 Paddy) 👉🏻फसल पकने की अवधि 130-135 दिन 👉🏻पौधे की उचाई - 120-125 सेमी 👉🏻दाने की संख्या / बाली - 400 - 500 👉🏻पैदावार - 30 - 35 क्विंटल प्रति एकड़ 👉🏻बाली - 12 से अधिक 👉🏻लम्बा और मोटा, वजनदार दाना, एवं लम्बी घनी बाली, इससे अधिक पैदावार मिलती है 👉🏻सूखा और झुलसा के प्रति सहनशील 👉🏻विपरीत मौसम में खड़े रहने की क्षमता, गिरता नही 8. बायर - अराइज 6129 गोल्ड (UP Bayer- Arize 6129 Gold Paddy) 👉🏻अराइज 6129 गोल्ड ज्यादा पैदावार देने वाली बी एल बी (बैक्टीरियल लीफ ब्लाइट) को सहनशील किस्म है 👉🏻जल्दी पकने वाली किस्म - 115-120 दिन 👉🏻अधिक उपजाऊ कल्ले, ज्यादा दानों से भरी हुई बाली > 90 %, एक बाली में ज्यादा दानो की संख्या - 275 - 300 👉🏻कम पानी की जरुरत और विस्तृत अनुकूलता 👉🏻सब्जी / आलू और गेहूं की फसल के रोटेशन में अच्छी तरह से फिट बैठता है 👉🏻छत्तीसगढ़ के लिए अधिसूचित 9. बायर - अराइज- 6633 (UP Bayer- Arize 6633 Paddy) 👉🏻अराइज ए जेड- 6633 किस्म दूसरी किस्म के तुलना में 20-25% ज्यादा पैदावार देने वाली है 👉🏻छोटा पतला दाना,(महीन दाना) ज्यादा दानो से भरी हुई बाली, खाने के लिए स्वदिष्ट (good cooking quality) मध्यम पक्वता वाली 130-135 दिन की किस्म है 👉🏻ज्यादा उत्पादन देने वाले कल्ले 👉🏻ज्यादा पैदावार, उच्च गुणवत्ता के धान 10. बायर - अराइज 6741 👉🏻अवधि- 115-120 दिन 👉🏻ज्यादा पैदावार देने वाली किस्म 👉🏻लम्बा और पतला दाना 👉🏻हर बाली में दाने का ज्यादा भराव 👉🏻पकाने और खाने के लिए स्वादिष्ट 👉🏻दूसरी किस्म के तुलना में 20-25% ज्यादा पैदावार देने वाली 11. डेल्टा सुधा प्लस (Delta- Sudha Plus Paddy) 👉🏻अवधि- 130 - 135 दिन 👉🏻ज्यादा उत्पादन देने वाले कल्ले 👉🏻हर बाली में दाने का ज्यादा भराव 👉🏻मध्यम पतला दाना 👉🏻झुलसा रोग के प्रति सहनशील 👉🏻सूखा सहे, कम बारिश में भी अधिक उपज दे 👉🏻जड़ो का फैलाव साधारण प्रजातियों से अधिक 👉🏻कम उर्वरक के प्रयोग से भी अधिक उपज 👉🏻गिरने के प्रति सहनशील 12. सीड प्रो 4699 गोल्ड 👉🏻विभिन्न कृषि परिस्थिति जलवायु के लिए अनुकूल 👉🏻जीवाणुजनित झुलसा रोग के प्रति सहनशील 👉🏻मध्यम अवधि (135-140 दिन) में पकने वाली किस्म। 👉🏻मध्यम पकने वाली किस्म से 25-30% अधिक उपज। 👉🏻प्रति पौधा 12-15 अच्छे उपजाऊ और मजबूत कल्ले। 👉🏻मजबूत कल्लों के कारण विपरीत परिस्थितियों में खड़ा रहने की क्षमता। 👉🏻लंबी और गुच्छेदार बाली इसलिए दानों की अधिक संख्या। 👉🏻70% से अधिक मिलिंग रिकवरी। 👉🏻डायरेक्ट सीडेड राइस (DSR) सिस्टम के लिए उपयुक्त किस्म। 👉🏻लम्बा और मोटा दाना 13. सीड प्रो 4599 👉🏻अवधि - 120-125 दिन 👉🏻पौधे की ऊंचाई - 90 -100 सेमी 👉🏻कल्लों की संख्या - 16-18 प्रति पौधा 👉🏻रोग के प्रति सहनशील 👉🏻मध्यम पतला दाना, ज्यादा पैदावार की किस्म 👉🏻प्रतिकूल परिस्थिति में खड़े रहने की क्षमता 👉🏻हर बाली में दाने का ज्यादा भराव 👉🏻पकाने और खाने के लिए स्वादिष्ट 👉🏻बीज मांगने के लिए इस लिंक पर ulink://android.agrostar.in/productlist?sku_list=AGS-S-3040,AGS-S-3052,AGS-S-3041,AGS-S-3031,AGS-S-3030,AGS-S-3029,&pageName= क्लिक करें 👉🏻 खेती तथा खेती सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए कृषि ज्ञान को फॉलो करें। फॉलो करने के लिए अभी ulink://android.agrostar.in/publicProfile?userId=558020 क्लिक करें। स्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, 👉🏻प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक👍करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
17
18
संबंधित लेख