सफलता की कहानीyourstory.com
दीमक से फसलें बचाने के लिए भगवती देवी ने किया अद्भुत अनुसंधान!
कृषि प्रधान देश की अद्भुत अनुसंधानकर्ता, फसलों को दीमक से बचाने की अनोखी विधि ईजाद करने वाली सीकर (राजस्थान) के गांव दांतारामगढ़ की भगवती देवी 'खेत वैज्ञानिक सम्मान' और 50 हजार रुपए के 'कृषि प्रेरणा सम्मान' आदि से नवाज़े जाने के साथ ही वह भारत के अलावा विदेशी पाठ्यक्रम में भी आ चुकी हैं। 👉🏻 राजस्थान की महिला किसानों देश में एक अलग ही पहचान है। वे कहीं घर की छत पर सब्जियां उगा रही हैं, कहीं सिंदूरी अनार की खेती में नया रिकॉर्ड बना रही हैं तो कहीं शेखावटी की संतोष पचार पारंपरिक मापदंडों को धता बताकर जैविक खेती के क्षेत्र में सफलता की नई कहानी लिख रही हैं। खास तरीका किया ईजाद 👉🏻 जब किसी किसान का ज़िक्र आता है, अनायास खेत में हल चलाते पुरुष की तस्वीर जेहन में उभर आती है, जबकि धान की रोपाई हो या फ़सल की कटाई, हर जगह महिलाएं ही काम करती दिखती हैं। इतना सब होने के बाद भी महिला को किसानों हमारा ग्रामीण परिवेश पुरुषों की तरह तवज्जो नहीं देता है लेकिन अब बदलते जमाने के साथ यह मिथक भी टूट रहा है। ऐसी ही महिला किसानों में एक नाम है सीकर (राजस्थान) के गांव दांतारामगढ़ सुंडाराम वर्मी की पत्नी भगवती देवी का, जिन्होंने दीमक से फसलों के बचाव के लिए खुद का अजीबोगरीब तरीका ईजाद कर दिया है। 👉🏻 'खेत वैज्ञानिक सम्मान' और 50 हजार रुपए के 'कृषि प्रेरणा सम्मान' से नवाजी जा चुकीं भगवती देवी बताती हैं कि उनके खेत में अरड़ू, बेर, खेजड़ी, नीम, सफेदा, बबूल, शीशम आदि के पेड़-पौधे हैं। खेत की मेड़ों पर पड़ी इनकी लकड़ियों में प्रायः दीमक लगते रहे हैं। यूकेलिप्टस से मिली मदद 👉🏻 बात सन् 2004 की है। एक दिन उन्होंने क्या देखा कि सफेदे की लकड़ी में दीमकों की भरमार है। तभी उनके मन में एक सवाल कौंधा कि यूकेलिप्टस (सफेदे) की लकड़ी को ही दीमक क्यों इतने चाव से खोखला कर रहे हैं। फिर उन्हे एक तरकीब सूझी कि अगर फसलों के बीच में सफेदे की लकड़ियां रख दी जाएं तो दीमक फसलों को छोड़कर इनके साथ लिपट जाएंगे और फसल बर्बाद होने से बच जाएगी। चूंकि बाद में बोई गई फसल पर दीमक ज्यादा जोर मारते हैं, सो उन्होंने गेहूं की फसल उस बार देर से खेत में डाली। उसके बाद उन्होंने फसल के बीच में सफेदे की एक लकड़ी रख दी। फिर क्या था, अगले दिन देखा फसल निचोड़ रहे दीमक सफेदे को खंगालने में जुटे हुए हैं। 👉🏻 खेती तथा खेती सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए कृषि ज्ञान को फॉलो करें। फॉलो करने के लिए अभी ulink://android.agrostar.in/publicProfile?userId=558020 क्लिक करें।
स्रोत:- yourstory.com, प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
18
1
संबंधित लेख