सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
टमाटर की तुड़ाई की विभिन्न अवस्थाएं!
👉🏻टमाटर की तुड़ाई की अवस्था उसके उगाये जाने के उद्देश्य एवं एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजे जाने के ऊपर निर्भर करती है। टमाटर के फलों की तुड़ाई निम्न चार अवस्थाओं में की जाती है । किस्मों के आधार पर, रोपाई के लगभग 60-70 दिनों में फल पककर तैयार हो जाते हैं। 👉🏻गहरा हरा रंग - इस अवस्था में फल गहरे हरे रंग के होते हैं और फलों पर एक लाल गुलाबी छटा देखी जाती है। दूरस्थ बाजारों में भेजने के लिए फलों की इस अवस्था पर तुड़ाई की जाती है। 👉🏻ब्रेकर चरण - फल की इस अवस्था पर गुलाबी रंग दिखाई देता है। यह अवस्था सर्वोत्तम गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए इस स्तर पर फलों की तुड़ाई की जाती है। इस तरह के फलों को तुड़ाई के बाद कम नुकसान होता है शिपमेंट के दौरान अक्सर कम परिपक्व टमाटर की तुलना में अधिक कीमत मिलती है। 👉🏻लाल गुलाबी- फल कड़े होते हैं और लगभग पूरा फल लाल गुलाबी हो जाता है। स्थानीय बिक्री के लिए फलों को इस स्तर पर तुड़ाई की जाती है। 👉🏻पूरी तरह से पके हुए - फल पूरी तरह से पक चुके होते हैं और नरम गहरे लाल रंग के होते हैं। ऐसे फलों का उपयोग प्रसंस्करण के लिए किया जाता है। 👉🏻खेती तथा खेती सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए कृषि ज्ञान को फॉलो करें। फॉलो करने के लिए अभी ulink://android.agrostar.in/publicProfile?userId=558020 क्लिक करें।
9
5
अन्य लेख