AgroStar
सभी फसलें
कृषि ज्ञान
कृषि चर्चा
अॅग्री दुकान
जीरा की खेती कैसे करे?
गुरु ज्ञानAgroStar
जीरा की खेती कैसे करे?
🌾जीरा की खेती कैसे करे? 👉जीरा एक मसाला वाली फसल है, जिसकी खेती मसाले के रूप में की जाती है जीरे का उपयोग कई तरह के व्यंजनों में खुशबु उत्पन्न करने के लिए करते है I इसके अलावा इसे खाने में कई तरह से उपयोग में लाते है, देश का 80 प्रतिशत से ज्यादा जीरा गुजरात और राजस्थान में उगाया जाता है. राजस्थान में देश के पूरे उत्पादन का लगभग 28 प्रतिशत जीरे का उत्पादन किया जाता है, भारत वर्ष में क्षेत्रफल की दृष्टि से इसकी खेती प्रमुखता से गुजरात ,राजस्थान, कुछ क्षेत्र मध्यप्रदेश में की जाती है। ⏺भूमि का चुनाव एवं तयारी :- 👉जीरे की खेती विभिन्न प्रकार की मिट्टी में की जा सकती है, चाहे वह कम कार्बनिक पदार्थ वाली रेतीली हो या अच्छी मात्रा में कार्बनिक पदार्थ वाली चिकनी और चिकनी दोमट मिट्टी अधिक उपयुक्त होती है। मिट्टी में जल निकास की बेहतर सुविधा होनी चाहिए क्योंकि जमा हुआ पानी और अत्यधिक नमी जीरे की फसल के लिए बहुत हानिकारक है, हैरो या देसी हल से 2-3 जुताई करके मिट्टी को भुरभुरा बना लें। ⏺बीज की बुवाई :- 👉जीरा की बुवाई का उचित समय नवम्बर के अंतिम सप्ताह तक कर देनी चाहिए। बुआई का समय एक महत्वपूर्ण कृषि तकनीक है जिसमें लागत नहीं बल्कि उत्पादन का स्तर शामिल होता है, जीरे को रोग और कीट से बचाने के लिए, इसे उचित समय पर उगाया जाना चाहिए ताकि फूल आने की महत्वपूर्ण अवधि हो तथा जीरा वातावरण में उच्च आर्द्रता से बच सकता है। ⏺बीज दर:- 👉पौधों की संख्या सुनिश्चित करने के लिए इष्टतम बीज दर बनाए रखना एक महत्वपूर्ण तकनीक है सामान्यतः बीज दर 12-15 kg /hac का उपयोग किया जाता है। ⏺बीज बोने विधि एवं दुरी – 👉जीरे की बुआई दो तरीकों से की जाती है लाइन बुआई और ब्रॉडकास्टिंग। परंपरागत रूप से किसान जीरे की बुआई छिटकवा विधि से करें ,लाइन से लाइन की दूरी 25 सेमी रखनी चाहिए। बीज को 1.5 सेमी से अधिक गहरा नहीं बोना चाहिए और उसे मिट्टी की पतली परत से ढक देना चाहिए। अधिक गहराई तक बुआई करने से बीज के अंकुरण में देरी होती है। 👉उन्नत किस्मों का चुनावः- जीरा की बीज की बुवाई करने के लिए एग्रोस्टार क्यूमेक्स रिसर्च बीज का चुनाव कर सकते है, जिसकी विशेषताएँ निम्न है- 👉 फसल अवधि-100 -110 दिन 👉 बुआई का अंतर- कतार से कतार में 30 सेमी 👉 पौधे की ऊंचाई - 25-30 सेमी 👉 रोग प्रतिरोधक क्षमता:- उकठा एवं झुलसा रोग के प्रति सहनशील 🌾स्त्रोत:- AgroStar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद।
63
5
अन्य लेख