agrostar logo
सभी फसलें
कृषि ज्ञान
कृषि चर्चा
अॅग्री दुकान
जामुन की खेती पर होगी छप्पड़ फाड़ कमाई!
योजना और सब्सिडीAgrostar
जामुन की खेती पर होगी छप्पड़ फाड़ कमाई!
🫐देश की अर्थव्यवस्था में सबसे ज्यादा अहम रोल किसानों का है. कोरोना काल के दौरान यह साफतौर पर दिखा. जब सभी सेक्टर के विकास दर में गिरावट देखी गई थी तो कृषि ही एकमात्र क्षेत्र था जिसपर ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ा था. ऐसे में सरकार भी पिछले कुछ सालों से किसानों की आय बढ़ाने को लेकर लगातार प्रयास कर रही है. इसी कड़ी में किसानों को कई फसलों पर सब्सिडी भी दी जा रही है। जामुन की फसल पर सब्सिडी - 🫐सरकार इन दिनों बागवानी फसलों की खेती को बड़े स्तर पर प्रोत्साहित कर रही है. इन फसलों को लेकर कहा जाता है कि ये कम लागत में बंपर मुनाफा दे जाती हैं. इसी कड़ी में सरकार द्वारा जामुन की खेती करने वाले किसानों को 50 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जा रही है. एक हेक्टेयर जामुन की खेती की लागत 60,000 रुपये निर्धारित की गई है, जिस पर किसानों को 50 फीसदी की सब्सिडी यानी 30 हजार रुपये तक दिए जाएंगे। यहां करें आवेदन - 🫐इच्छुक किसान जामुन की खेती पर सब्सिडी का लाभ उठाने के लिए सरकार के कृषि विभाग के वेबसाइट http://horticulture.bihar.gov.in/ पर जाकर आवेदन कर सकते हैं. इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए उद्यान विभाग के कार्यलय या सहायक निदेशक  से भी संपर्क कर सकते हैं। जामुन की खेती में है बंपर मुनाफा - 🫐जामुन के पेड़ 4 से 5 वर्ष के बाद फल आने लगता है लेकिन लगभग 8 साल बाद पूर्ण रूप से फल देना शुरू करते हैं. पूर्ण रूप से तैयार होने के बाद एक पौधे से 80 से 90 किलो तक जामुन प्राप्त हो जाती है,जबकि एक हेक्टेयर में इसके लगभग 250 से ज्यादा पेड़ लगाए जा सकते हैं. जिनका कुल उत्पादन 25000 किलो तक प्राप्त हो जाता है.जिसका बाज़ार भाव 100 से 120 रूपये किलो के आसपास पाया जाता हैं. इस हिसाब से एक बार में एक हेक्टेयर से लगभग 20 लाख तक की कमाई कर सकते हैं। स्त्रोत:- Agrostar 👉🏻किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
3
2
अन्य लेख