सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस
जानिये कैसे बचाएं गेंहूं की फसल को माहू कीट के प्रकोप से!
👉🏻किसान भाइयों मौसम में बदलाव के चलते माहू कीट तेजी से सक्रिय हो रहा है। काले रंग का यह छोटा सा कीट पत्तियों और बालियों में रहता है। यह पौधे का रस चूसकर उसे कमजोर कर देता है। इसके अलावा इस कीट द्वारा छोड़े गए चिपचिपे पदार्थ के चलते फफूंदी का भी प्रकोप बढ़ जाता है। इससे दाना पतला और काला हो जाता है। इस कारण फसल का उत्पादन प्रभावित होता है। नियंत्रण:- 👉🏻क्यूनालफॉस 25% EC @ 400 मिली० प्रति एकड़ 200 से 400 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें। 👉🏻थायमेथॉक्सम 25% WG @ 20 ग्राम प्रति एकड़ 200 लीटर पानी में घोलकर फसल पर छिड़काव करें। 👉🏻यदि गेहूं में बाली निकल रही हो तो छिड़काव दोपहर दो बजे के बाद ही करना अधिक लाभकारी रहता है। स्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, 👉🏻प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
12
5
अन्य लेख