एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
जानिए, कपास के खेत की जुताई पूर्व तैयारी और महत्त्व!
👉🏻 किसान भाइयों आपके खेत की मिट्टी खरपतवारों से मुक्त होनी चाहिए। बुवाई के पहले और बाद में कुछ हफ्तों के लिए इसमें पर्याप्त नमी होनी चाहिए। और जल भराव से बचने के लिए अच्छी तरह नालियों की व्यवस्था होनी चाहिए। इससे कपास का अच्छा वृद्धि और विकास होता है। जुताई करने से खेत की मिटटी भुरभुरी हो जाती है जिससे खेत में क्यारियां बनाने, बुवाई कार्य और बीजों का जमाव अच्छा होता है। 👉🏻 खेती तथा खेती सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए कृषि ज्ञान को फॉलो करें। फॉलो करने के लिए अभी ulink://android.agrostar.in/publicProfile?userId=558020 क्लिक करें। स्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, 👉🏻प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक👍करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
3
2
अन्य लेख