कृषि वार्ताAgriculture Guide
जानिए, उत्तरप्रदेश फ्री सोलर पंप योजना में कैसे करें आवेदन!
👉🏻सरकार इस योजना के तहत ऊर्जा कुशल पंप सेट वितरित कर रही है। ऐसे सेट 35% तक कम बिजली की खपत करते हैं। सरकार वर्तमान में 5 एचपी और 7.5 एचपी पंप वितरित कर रही है। इसके साथ ही सरकार द्वारा किसानों को स्मार्ट किट भी प्रदान किए जा रहे हैं। 👉🏻उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसानों की मदद के लिए किसान उदय योजना शुरू की है। इसका उद्देश्य किसानों की आय को दोगुना करना और खेतों में कम लागत पर अधिक पैदावार प्राप्त करना है। राज्य के किसानों को किसान उदय योजना के तहत पंप सेंट देने का प्रावधान है। योजना के अनुसार, वर्ष 2022 तक राज्य के 10 लाख किसानों को मुफ्त पंप सेट दिए जाएंगे। 5 साल तक इन पंप सेटों के रखरखाव का खर्च बिजली कंपनियां भी उठाएंगी। इस योजना के तहत, मुफ्त सौर पंप वितरित किए जाएंगे जो ऊर्जा में कुशल होंगे, बिजली की खपत को कम करेंगे। 👉🏻मुफ्त सौर पंप योजना का लाभ लेने के लिए, यह आवश्यक है कि आवेदक यूपी का नागरिक हो। किसी अन्य राज्य के लोग इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं। इस योजना का लाभ केवल किसान ही उठा सकते हैं। योजना का लाभ केवल उन्हीं किसानों को मिलेगा जो किसी अन्य सौर पंप योजना का लाभ लेने में असमर्थ हैं। अगर केंद्र सरकार या राज्य सरकार सोलर पंप योजना से जुड़ी है, तो किसान को उदय योजना का लाभ नहीं मिलेगा। केवल वे किसान जिनके पास पहले से पंप सेट नहीं है, वे मुफ्त सौर पंप योजना का लाभ लेंगे। सरकार पंप सेट और किट प्रदान करती है:- 👉🏻सरकार इस योजना के तहत ऊर्जा कुशल पंप सेट वितरित कर रही है। ऐसे सेट 35% तक कम बिजली की खपत करते हैं। सरकार वर्तमान में 5 एचपी और 7.5 एचपी पंप वितरित कर रही है। इसके साथ ही सरकार द्वारा किसानों को स्मार्ट किट भी प्रदान किए जा रहे हैं। पंप पूरी तरह से सौर और स्मार्ट होंगे, जिन्हें मोबाइल फोन के माध्यम से भी चालू और बंद किया जा सकता है। इन पंपों के रखरखाव की जिम्मेदारी बिजली वितरण कंपनियों को दी गई है। यह योजना कई साल पहले शुरू हुई थी लेकिन इसे 2022 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। पहले चरण में यह योजना गाजीपुर, गोरखपुर, वाराणसी, अम्बेडकर नगर, मथुरा और अलीगढ़ में शुरू की गई थी। योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज:- 👉🏻इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसान के पास अपना आधार कार्ड होना चाहिए। उसके पास खेती की जमीन, आय प्रमाण पत्र, किसान विकास पत्र, मोबाइल नंबर, बैंक खाते की जानकारी, मूल पत्र और स्थायी पते के दस्तावेज होने चाहिए। इन दस्तावेजों को जमा करने वाले किसानों को उदय योजना का लाभ जल्द मिलेगा। यूपी सरकार ने इस योजना के लिए 70 करोड़ का बजट पारित किया है। सरकार इस योजना को चरणबद्ध तरीके से लागू करेगी। अलग-अलग जिलों को अलग-अलग चरणों में शामिल किया जाएगा। जिन जिलों के लोगों का नाम सामने आएगा, वे पंप सेट के लिए आवेदन कर सकेंगे। ऑनलाइन आवेदन कैसे करें:- 👉🏻आप पंप सेट के लिए यूपी सरकार के कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर क्लिक करके आवेदन कर सकते हैं। इससे पहले, आपको एक लॉगिन आईडी बनानी होगी। यह काम जिले के नाम, उपयोगकर्ता नाम, पासवर्ड आदि की मदद से किया जाता है। इस यूजर आईडी को भविष्य के लिए रखा जाना चाहिए क्योंकि बाद में इसकी आवश्यकता होगी। फॉर्म में पूछी गई जानकारी भरने के बाद सबमिट करें। इसके विभाग के अधिकारी आपसे संपर्क करेंगे और आपको इस योजना का लाभ मिलेगा। 👉🏻खेती तथा खेती सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए कृषि ज्ञान को फॉलो करें। फॉलो करने के लिए अभी ulink://android.agrostar.in/publicProfile?userId=558020 क्लिक करें। स्रोत:- Agriculture Guide, 👉🏻प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। यदि दी गई जानकारी आपको उपयोगी लगी, तो इसे लाइक👍करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
91
34
अन्य लेख