क्षमाा करें, यह लेख आपके द्वारा चुनी हुई भाषा में नहीं है।
Agri Shop will be soon available in your state.
गुरु ज्ञानएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
छाल खाने वाली इल्ली की बागवानी फसलों में एक बड़ी समस्या
• पेड़ की छाल खाने वाली इल्ली अनार, अमरुद, आम, मुनगा, बेर, आम आदि बागवानी फसलों को नुकसान पहुंचाती है।_x000D_ • यह इल्ली तने पर और तने के भीतर छेद करके रहती है।_x000D_ • छाल खाने वाली इल्ली दिन के समय छेद के अंदर छिपी रहती है और रात के समय पौधे के छाल के हरे पदार्थ को खाती है।_x000D_ • इल्ली के जाले और उत्सर्जन (मलमूत्र), तने या शाखा पर स्पष्ट रूप से दिखाई देते हैं। कभी-कभी, हवा के कारण संक्रमित शाखाएं भी टूट जाती है।_x000D_ • आमतौर पर, पुराने पेड़ों में इसका संक्रमण अधिक होता है।_x000D_ • स्वच्छ और साफ बाग बनाए रखें और पेड़ों की नियमित छंटाई करें।_x000D_ • पेड़ के तने और शाखाओं से इल्ली द्वारा बनाई गई जाले को हटाकर नष्ट करें।_x000D_ • इल्ली द्वारा बनाए गए छेद में लोहे की रॉड डालें और इल्ली को मार दें।_x000D_ • छेद में आवश्यकतानुसार घोल (एक लीटर मिट्टी का तेल, 100 ग्राम साबुन पाउडर + 7 लीटर पानी) डालें और गोबर या मिट्टी से छेद को बंद करें।_x000D_ • इस तरह का उपचार साल में दो बार करें।_x000D_ • पेड़ के तने पर जाले हटाने के बाद पेड़ के तने पर साल में दो बार किसी भी कीटनाशक का छिड़काव करें।_x000D_ _x000D_ स्रोत: एगोस्टार एग्रोनॉमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस_x000D_ यह जानकारी आपको उपयोगी लगी तो लाइक करें और अपने किसान मित्रों के साथ शेयर करना ना भूले!_x000D_
35
0
संबंधित लेख