योजना और सब्सिडीTV9
गेहूं की बीज पर 50 फीसदी सब्सिडी दे रही सरकार!
👉 अगले महीने यानी सितंबर से रबी फसलों की बुवाई शुरू हो जाएगी. गेहूं रबी की सबसे प्रमुख फसल है. किसान इसकी तैयारी में लग गये हैं और पहले सप्ताह से इसकी बुवाई भी शुरू हो जाएगी. गेहूं का रकबा बढ़ाने और किसानों की लगात घटाने के लिए कई राज्यों में गेहूं की बीज पर भारी सब्सिडी (subsidy) भी दी जा रही है. राजस्थान सरकार ने 50 फीसदी अनुदान देने का ऐलान किया है, इसके लिए किसानों को क्या करना होगा और इस योजना का लाभ कैसे मिलेगा, आइए जानते हैं! 👉 राजस्थान में राजस्थान कृषि विभाग राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत किसानों को गेहूं की बीज पर 50 फीसदी अनुदान दे रहा है. राज्य के किसान अगर राजस्थान स्टेट सीड्स कॉर्पोरेशन और राष्ट्रीय बीज निगम के प्रमाणित गेहूं के बीज खरीदते हैं तो उन्हें इस योजना का लाभ मिलेगा. राज्य सरकार की ओर से किसानों को दलहनी फसलें, मक्का, बाजारा, सोयाबीन, मूंगफली, तेल और सरसों जैसे बीजों पर भी सहायता दी जा रही है! किन्हें मिलेगा बीज- 👉 अब सवाल ये है कि सब्सिडी किन किसानों को मिलेगी. सरकार की विज्ञप्ति के अनुसार योजना का लाभ पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर मिलेगा. फसल अगर स्वपरागित है तो तीन वर्ष में एक बार, परपरागित फसल के लिए दो वर्ष में एक बार और संकर किस्मों पर हर साल अनुदान का लाभ लिया जा सकेगा! बीज मिलेगा कहां- 👉 आपको बता दें कि किसानों को ये सब्सिडी राजस्थान कृषि विभाग के राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत दी जा रही है. ऐसे में किसानों को योजना का लाभ लेने के लिए नवीनतम जमाबंदी और आधार कार्ड जमा करना होगा. इसके बाद जमीन के हिसाब से परमिट बनवाकर सहकारी समितियों से बीज लिया जा सकेगा. किसान नजदीकी ग्राम सेवा, क्रय विक्रय सहकारी समिति पर जा सकते हैं. ज्यादा जानकारी के लिए किसान राजस्थान सरकार के एग्रीकल्चर पोर्टल पर भी जा सकते हैं! स्त्रोत:- TV9 👉 प्रिय किसान भाइयों अपनाएं एग्रोस्टार का बेहतर कृषि ज्ञान और बने एक सफल किसान। दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
56
6
अन्य लेख