कीट जीवन चक्रलियाकत अली तीवनो गन्ना आईपीएम
गन्ने की फसल में शीर्ष बेधक कीट का जीवन चक्र
• यह गन्ने का एक प्रमुख कीट है, यह कीट मुख्य रूप से युवा पौधों के लिए हानिकारक है। इस कीट की सूंडी फसल को हानि पहुँचती है। • इस कीट के द्वारा फसलों में 50% तक हानि देखी गई है। • यह पौधों के शीर्ष में छेद करके अंदर प्रवेश करता है और अंदर के गूदे को खा कर नुकसान पहुँचता है। • मादा कीट 300- 400 अंडे देती है। अंडे को मध्य रिब के किनारे पत्तियों की सतह के नीचे 10-30 अंडों के समूह में रखा जाता है। अंडे मलाईदार सफेद रंग के होते हैं। • अंडोँ से लगभग एक सप्ताह बाद सूंडी निकलती है पहले ऊपरी हिस्से को खाती है। इसके बाद गन्ने के पौधे के आधार के पास से तने में छेद करके अंदर प्रवेश करती हैं। सूंडी की जीवन अवधि लगभग तीन सप्ताह की होती है। • इसके बाद सूंडी गन्ने के डंठल के अंदर सुरंग में कृमिकोष में अवस्था में चला जाता है। • कृमिकोष से 7 से 9 दिनों की अवस्था के बाद प्रौढ़ कीट के रूप में बाहर निकलता है। • इसके नियंत्रण के लिए मोनोक्रोटोफॉस 36 % एस एल @800 मिली प्रति 300 लीटर पानी के साथ मिलाकर प्रति एकड़ छिड़काव करें।
स्रोत: लियाकत अली तीवनो गन्ना आईपीएम यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
202
0
संबंधित लेख