AgroStar
सभी फसलें
कृषि ज्ञान
कृषि चर्चा
अॅग्री दुकान
खेती के साथ साथ अपना बिज़नेस भी !
कृषि वार्ताAgroStar
खेती के साथ साथ अपना बिज़नेस भी !
🌟किसानी में फसल की उत्पादनता बढ़ाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण और कम लागत वाला निवेश बीज है. किसानों के लिए अच्छी गुणवत्ता के बीज एक आवश्यक निवेश है. उत्कृष्ट गुणवत्ता वाले बीजों का उपयोग कृषि क्षेत्र में सफलता की कुंजी है और यह खेती की कुल लागत का एक छोटा सा हिस्सा है. अगर खराब गुणवत्ता के बीजों का उपयोग किया जाता है, तो किसान की मेहनत और पैसा व्यर्थ जाते है. किसानों की कमाई बढ़ाने में बीज का एक महत्वपूर्ण योगदान होता है. जितनी अच्छी गुणवत के बीज होंगे, उतनी ही अच्छी आपकी फसल होगी. 🌟बीज उत्पादन से करें अच्छी कमाई :- यदि किसान अपनी फसल को अनाज के रूप में नहीं उगाकर उसे बीज के रूप में तैयार करता है, तो उसे अधिक मुनाफा मिल सकता है. बीज उत्पादन के लिए केंद्र सहित राज्य सरकारें किसानों की सहायता करती हैं. सरकार किसानों को बीज उगाने की तकनीक, समय-समय पर देखभाल और वैज्ञानिक सलाह भी प्रदान करती है. 🌟बीज खरीदते समय इन बातों का रखें ध्यान :- आईसीएआर के मुताबिक, बीज फसल को उगाने के लिए बीज को किसी प्रमाणित संस्था से प्राप्त करना आवश्यक है, जिसमें जेनेटिकली पवित्र और अन्य महत्वपूर्ण गुणवत्ता विशेषज्ञता हो. बीज को खरीदते समय वैलिडिटी पीरियड की जांच जरूर करें और खरीदे गए बीज-बैग के टैग और सील का संरक्षण सुनिश्चित रखें. बीजजनित रोगों और कीटों से बचने के लिए कीटनाशकों का उपयोग करें. दलहनी फसलों के बीजों पर राइझोबियम कल्चर लगाएं, जो एक प्राकृतिक जैव उर्वरक जीवाणु होता है. यह फसलों में नाइट्रोजन स्थिरीकरण का काम करता है. कठोर बीज को मुलायम बनाने के लिए उन्हें पानी में भिगोना चाहिए. 🌟ऐसे करें बीच की बुवाई :- बीज उत्पादन के लिए लाइन में बुआई के लिए एक साफ सीडड्रिल का इस्तेमाल करना चाहिए. छोटे बीज फसलों/खरीफ फसलों/ गीली मिट्टी में उथली गहराई और बड़े बीज फसलों/रबी फसलों/ सूखी मिट्टी में गहराई में बोना चाहिए. बीज फसल को उसकी आवश्यकतानुसार सिंचित करना चाहिए. रोपण के समय अच्छा और एक समान अंकुरण सुनिश्चित करने के लिए सिंचाई जरूरी है, ताकि उसका विकास हो सके. 🌟खरपतवार पर रखें नियंत्रण :- बीज को खरपतवार से मुक्त रखने के लिए, खेत में बीज की प्रतिस्पर्धी हराई या खरपतवारनाशी का इस्तेमाल करना आवश्यक होता है. किसी भी स्थिति में हमेशा खरपतवार से पौधों में फूल/बीज के विकास को रोकना चाहिए. जब बीज फसल को कीटों और रोगों का संक्रमण होता है, तो बीजों की गुणवत्ता और उत्पादन में कमी होती है. इसलिए, हमेशा सिफारिशों के अनुसार उचित समय पर पौध संरक्षण के उपाय को अपनाना चाहिए. 🌟फसल कटाई का भी रखें ध्यान :- बीजों में नमी की मात्रा कटाई के समय को निर्धारित करने में एक प्रमुख तत्व होती है. कटाई के दौरान त्वरित काटने से भीगी हुई बीज मिलता है. विपरीत रूप से, धीमी कटाई से बीजों की अंकुरण क्षमता, प्राण और प्राणशक्ति में कमी हो जाती है. थ्रेसिंग से पहले और बाद में फर्श को साफ करना चाहिए और कटाई के समय बीजों में नमी की मात्रा कम होनी चाहिए, जो बीजों को क्षति से बचाने में आवश्यक होती है. 🌟स्त्रोत:- AgroStar किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट 💬करके ज़रूर बताएं और लाइक 👍एवं शेयर करें धन्यवाद।
17
0
अन्य लेख