क्षमाा करें, यह लेख आपके द्वारा चुनी हुई भाषा में नहीं है।
Agri Shop will be soon available in your state.
कृषि वार्ताकृषि जागरण
खुशखबरी: 2.5 करोड़ किसानों को 2 लाख करोड़ रुपये का ऋण देने की योजना!
👉कोरोना संकट के बीच वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद के लिए बैंकों ने किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) योजना के तहत 1.5 करोड़ किसानों को 1.35 लाख करोड़ रुपये की ऋण सीमा को कवर करने के लिए कवर किया है। 👉सरकार नेकिसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत 2.5 करोड़ किसानों को विशेष संतृप्ति अभियान के माध्यम से 2 लाख करोड़ रुपये की क्रेडिट प्रोत्साहन राशि के साथ कवर करने की घोषणा की है, जैसे कि आत्मनिर्भर भारत पैकेज। 👉एक आधिकारिक बयान में कहा गया, ""किसानों और मछुआरों और डेयरी किसानों सहित रियायती ऋण तक पहुंच प्रदान करने की दिशा में बैंकों और अन्य हितधारकों द्वारा निरंतर प्रयासों के परिणामस्वरूप, 1.5 करोड़ से अधिक किसानों को कवर करने का एक प्रमुख मील का पत्थर लक्ष्य है। KCC, को स्वीकृत क्रेडिट सीमा के साथ रु० 1.35 लाख करोड़ प्राप्त हुए हैं। ” 👉किसानों के लिए सुविधाजनक और लागत प्रभावी ऋण वितरण सुनिश्चित करते हुए बयान में कहा गया है, किसानों के आय स्तर को बढ़ाने के अलावा, ग्रामीण अर्थव्यवस्था को चलाने और कृषि उत्पादन और संबद्ध गतिविधियों में तेजी लाने के लिए जारी अभियान भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। यह देश के लिए खाद्य सुरक्षा के उद्देश्य को पूरा करने के लिए एक लंबा रास्ता तय करेगा। 👉KCC योजना 1998 में किसानों को उनके कृषि कार्य के लिए पर्याप्त और समय पर ऋण प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू की गई थी। भारत सरकार द्वारा किसानों को 2% और किसानों को 3% की शीघ्र चुकौती प्रोत्साहन पर ब्याज प्रदान किया जाता है, इसलिए, किसानों को प्रतिवर्ष 4% की बहुत रियायती दर पर ऋण उपलब्ध कराया जाता है। 👉सरकार ने पशुपालन के लिए 2019 में केसीसी लाभ के साथ केसीसी लाभ को बढ़ाकर बड़े किसानों के लिए भी हितैषी कदम उठाए हैं, जिसमें डेयरी और मछली पालन करने वाले किसानों को उनकी कार्यशील पूंजी की आवश्यकता शामिल है और संपार्श्विक मुक्त कृषि ऋण की मौजूदा सीमा को 1 लाख रुपये से बढ़ाकर 1.60 लाख रुपये करना है। स्रोत-कृषि जागरण, प्रिय किसान भाइयों यदि आपको दी गयी जानकारी उपयोगी लगी तो इसे लाइक👍करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ जरूर शेयर करें धन्यवाद।
20
3
संबंधित लेख