समाचारTV9
खुशखबरी : प्रगतिशील किसानों को सम्मानित करेगा पूसा!
👉🏻भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (IARI) पूसा की ओर से प्रेक्टिकल एग्रीकल्चरल टेक्नॉलोजी को विकसित और प्रसारित करने वाले प्रतिभावान किसानों को सम्मानित किया जाएगा. पूसा कृषि विज्ञान मेले में 30 प्रगतिशील किसानों को इनोवेटिव फार्मर और फेलो फार्मर पुरस्कारों से सम्मानित किया जाएगा. यह मेला मार्च 2022 के पहले सप्ताह में आयोजित किया जाएगा. इसके लिए पूसा ने आवेदन आमंत्रित किए हैं. संस्थान के अधिकारियों ने कहा है कि पासपोर्ट साइज फोटो के साथ भलीभांति भरा एवं निर्धारित सक्षम अधिकारियों द्वारा अनुशंसित (Recommended) आवेदन पत्र 25 जनवरी 2022 तक मिल जाना चाहिए। 👉🏻किसान अपने आवेदन पत्र डॉ. बीएस तोमर, संयुक्त निदेशक (प्रसार) भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, नई दिल्ली-110012 के पते पर भेज सकते हैं. इसके लिए एक ई-मेल (jd_extn@iari.res.in) भी जारी किया गया है. डॉ. तोमर ने टीवी-9 डिजिटल से बातचीत में कहा कि उन्नत तरीके से खेती करने वाले किसानों को इसलिए अवार्ड दिया जा रहा है ताकि उनका हौसला बढ़े और वे दूसरों के लिए प्रेरणा बनें. सम्मानित होने वाले किसानों के आने-जाने का किराया और रहने के लिए जगह दी जाएगी. संस्थान खेती-किसानी में उनकी मदद करेगा. वो कभी भी पूसा में रहकर खेती की बारीकियां सीख सकते हैं। इस बात पर विशेष ध्यान दें आवेदक किसान:- 👉🏻दोनों पुरस्कारों के लिए एक ही आवेदन भेजें. चुने गए किसानों को पुरस्कार वितरण समारोह में भाग लेने के लिए सूचना समय पर दी जाएगी. आवेदन किसी सक्षम अनुशंसा प्राधिकारी द्वारा अग्रेषित और अनुशंसित होनी चाहिए. ऐसा न होने पर आवेदन पत्र निरस्त माना जाएगा। 👉🏻ऐसे अधिकारियों में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के संस्थानों के निदेशक, राज्य कृषि विश्वविद्यालयों के कुलपति, निदेशक प्रसार, निदेशक अनुसंधान, कृषि उत्पादन आयुक्त, सचिव, राज्य सरकार के कृषि, बागवानी, पशुपालन, मात्स्यिकी, रेशम विभाग के निदेशक, कृषि विज्ञान केन्द्रों के प्रमुख, स्वयंसेवी संस्थानों के अध्यक्ष या फिर कृषि क्षेत्र में कार्यरत प्राइवेट कंपनियों के एमडी में से कोई एक हो सकता है। ई-मेल से अप्लाई करने पर रखें ध्यान:- 👉🏻ये अधिकारी अपने कार्यक्षेत्र से योग्य किसानों के लिए प्रपत्र के अनुसार भरा हुआ, दस्तावेजों सहित नामांकन (ईमेल अथवा हार्ड कॉपी) भेज या अग्रेषित कर सकते हैं. ईमेल से भेजी जाने वाली स्थिति में मूल हस्ताक्षरित दस्तावेजों की स्कैन कॉपी संलग्न की जा सकती हैं. किसान अपना आवेदन स्वयं भी डाक या कोरियर से भेज सकते हैं, बशर्ते वह इनमें से किसी एक अधिकारी द्वारा अनुशंसित हो। क्या-क्या बताना होगा:- 👉🏻आवेदक का नाम, वैवाहिक स्थिति, जन्म स्थान एवं जन्म तिथि, पत्राचार पता, शैक्षणिक योग्यता, किसान के अपने या लीज पर लिए गए संसाधन, जमीन कितनी है और वह सिंचित या असिंचित क्या है इसे बताना होगा. कृषि, बागवानी, कृषि वानिकी, डेयरी, पोल्ट्री, मत्स्य पालन, बतख पालन, सूकर पालन एवं फसलोत्तर प्रौद्योगिकी में से किसी भी काम को करने वाला आवेदन कर सकता है। 👉🏻इन क्षेत्रों में आपने कौन सी इनोवेटिव टेक्नॉलोजी या वैज्ञानिक तरीकों का इस्तेमाल किया है, इसका संक्षिप्त विवरण देना होगा. आपने उसे अपनाया है या फिर उनमें सुधार या बदलाव किया है. इसे बताना होगा. मछली और कुक्कुट सहित पशु संसाधन, फार्म मशीनरी कृषि और इससे जुड़ी गतिविधियों के बारे में जानकारी किस्म या नस्ल के साथ देनी होगी. आपने जो काम किया उससे कितनी आय हुई, उसका लागत लाभ अनुपात क्या है. आपकी सक्सेस स्टोरी की अगर मीडिया में कवरेज हुआ है तो यह भी बताना होगा। स्रोत:- TV 9 Hindi, 👉🏻किसान भाइयों ये जानकारी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं और लाइक एवं शेयर करें धन्यवाद!
13
3
अन्य लेख