क्षमाा करें, यह लेख आपके द्वारा चुनी हुई भाषा में नहीं है।
Agri Shop will be soon available in your state.
कृषि वार्तान्यूज18
खुशखबरी:अब नहीं होगी खाद की कमी,सरकार ने दिए निर्देश!
👉देश भर में मॉनसून अच्छा रहने की वजह से खेतों में बुआई भी अच्छी हुई है। ऐसे में केंद्र सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र की फर्टिलाइजर कंपनियों के साथ मैराथन बैठक की। इस दौरान सरकार ने फर्टिलाइजर कंपनियों को स्‍पष्‍ट निर्देश दिया कि किसी भी सूरत में किसानों के लिए खाद की कमी नहीं होनी चाहिए। केंद्रीय उर्वरक व रसायन मंत्री सदानंद गौड़ा ने कहा कि देश भर में यूरिया समेत दूसरे खाद की आपूर्ति सुनिश्चित की जानी चाहिए। इस साल देश भर में मॉनसून अच्छा रहने की वजह से खरीफ फसलों के लिए यूरिया की मांग ज्यादा थी। लॉकडाउन के बावजूद फर्टिलाइजर कंपनियों ने यूरिया समेत दूसरे खादों की आपूर्ति जारी रखी। 👉रबी फसलों के लिए भी कंपनियां रहें तैयार:- केंद्र ने उर्वरक कंपनियों को साफ निर्देश दिया है कि खरीफ के बाद रबी फसलों के लिए भी तैयार रहें। किसानों को जरूरत के मुताबिक यूरिया और दूसरे खाद उपलब्‍ध कराने की पूरी तैयारी होनी चाहिए। केंद्रीय मंत्री ने पीएसयू कंपनियों के प्रमुखों को निर्देश दिया है कि एक कॉमन स्ट्रेटजी बनाई जानी चाहिए। इसके तहत उवर्रकों की बिक्री के लिए कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा दिया जाए। साथ ही ये सुनिश्चित किया जाएग कि उवर्रकों के लिए दी जा रही सब्सिडी का डायवर्जन या लीकेज ना हो ताकि लाभ सीधे किसानों तक पहुंचे। 👉 सरकार ने कहा आत्मनिर्भर बनें कम्पनियां:- केंद्रीय मंत्री ने कंपनियों से कहा कि वे आत्मनिर्भर बनें। कंपनियां केंद्र सरकार की बजटीय सहायता पर निर्भर ना बनें। बदलते समय की मांग है कि कंपनियां विविधता वाले खादों के उत्पादन पर जोर दें। कंपनियां नैनो-फर्टिलाइजर और कस्टमाइज्ड फर्टिलाइजर बनाने की दिशा में काम करें। जरूरत पड़े तो मौजूदा प्लांट्स में आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करें। केंद्रीय मंत्री ने कंपनियों को नसीहत दी है कि अगर वे निजी कंपनियों के साथ प्रतिस्पर्धा में टिके रहना चाहते हैं तो उन्हें कमर कसनी होगी। वहीं, पीएसयू कंपनियों ने भी प्लांट्स में आधुनिक तकनीक के इस्तेमाल को लेकर निवेश और रणनीति की जानकारी दी। 👉बैठक में इन कंपनियों के प्रमुखों ने लिया हिस्सा:- केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा के नेतृत्व में हुई इस बैठक में नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड, राष्ट्रीय कैमिकल्स एंड फर्टिलाइजर्स लिमिटेड, द फर्टिलाइजर्स एंड कैमिकल्स त्रावणकोर लिमिटेड, मद्रास फर्टिलाइजर लिमिटेड, ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन लिमिटेड और एफसीआई अरावली जिप्सम एंड मिनरल्स इंडिया लिमिटेड के प्रमुखों ने हिस्सा लिया। इसके अलावा फर्टिलाइजर सचिव छबिलेंद्र राउल भी बैठक में मौजूद थे। स्रोत - न्यूज 18, प्रिय किसान भाइयों यदि दी गई जानकारी उपयोगी लगी तो इसे लाईक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद
31
1